जिसे फोन किया वह निकले ग्राहक, पति के ऊपर आशंका

मडिय़ांव में सेक्स संचालिका और उसकी बेटी की हत्या का मामला

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मडिय़ांव थाना क्षेत्र में सेक्स रैकेट संचालिका और उसकी बेटी की हत्या के मामले में सर्विलांस टीम ने हजारों फोन कर कातिल तलाशने की कोशिश की। लेकिन विगत तीन दिन के अंदर हुई हजारों कॉल्स में पुलिस को अभी तक सिर्फ ग्राहक ही मिले हैं। सैकड़ों लोगों को थाने पर बुलाकर की गई पूछताछ में पुलिस को कोई ठोस सुराग नहीं मिला। पुलिस को कथित पति लालबहादुर और पहले पति पर हत्या की आशंका है। फिलहाल पुलिस जल्द ही मामले का पर्दाफाश करने का दावा कर रही है। बता दें कि सायरा की डायरी में कई बड़े लोगों का नाम भी शामिल था, जिसमें पत्रकार, पुलिस और सफेदपोश भी शामिल हैं।
मडिय़ांव थाना क्षेत्र के प्रीतिनगर बसंत बिहार कॉलोनी निवासी लाल बहादुर सीमेंट का कारोबार करता था। वह स्वयं को पत्रकार भी बताता था। जबकि उसकी पत्नी सायरा बानो सेक्स रैकेट चलाती थी। इस धंधे में लाल बहादुर सहित उसके परिजन भी शामिल थे। विगत दिनों उसकी पत्नी सायरा और उसकी 15 वर्षीय बेटी सोनी की देर रात हत्या कर दी गई थी। पुलिस के मुताबिक, बेटी की लाश बाथरूम में जबकि सायरा की लाश उसके बेडरूम में मिली थी। जिस समय घटना हुई उस समय सायरा का कथित पति लाल बहादुर मिश्रा अपनी दुकान पर था। दोनों की हत्या साइलेंसर युक्त असलहा और चाकू से गोदकर हुई थी। विगत वर्ष पूर्व एलियांज एनजीओ की सूचना पर तत्कालीन एसीएम पंचम मिश्रा और सीओ अलीगंज अखिलेश नारायण सिंह ने छापा मारकर सायरा सहित लगभग एक दर्जन युवतियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने उसका मकान भी सीज किया था लेकिन उसी मकान में हत्या होना स्थानीय पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल उठाता है।

Pin It