जिला पंचायत चुनावों में सपा का लहराया परचम

74 में से 60 सीटों पर सपा का कब्जा

मोदी के गढ़ में भी धराशायी हुई भाजपा
जिला पंचायत चुनाव नतीजों में बसपा और भाजपा की हुई फजीहत
बसपा, भाजपा ने लगाया चुनाव में हेराफेरी का आरोप

E14पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 2017 में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के लिए जहां सारी पार्टियां कमर कस चुकी है वहीं जिला पंचायत चुनाव परिणाम ने सपा खेमे की खुशी बढ़ा दी तो बसपा व भाजपा के मंसूबों पर पानी फेर दिया। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के क्षेत्र पंचायत सदस्य व जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में जहां बसपा को शानदार कामयाबी मिली थी वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में मात्र चार सीटों पर विजय हासिल हुई। कल यूपी के 36 सीटों पर हुए जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के परिणाम में ज्यादातर सपा समर्थित प्रत्याशियों ने जीत हासिल की। समाजवादी  पार्टी ने 74 में से 60 सीटों पर कब्जा जमाया है। 38 जिलों के जिला पंचायत अध्यक्ष पहले ही निर्विरोध चुन लिए गए थे।
प्रदेश में 2017 में विधानसभा चुनाव होना है। चुनाव की तैयारी में सभी पार्टियां लगी हुई है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को अधिकांश पार्टियां विधानसभा का सेमीफाइनल के तौर पर देख रही थी। इस चुनाव के नतीजे सत्ताधारी से लेकर विपक्षी दलों के लिए बहुत महत्वपूर्ण था। जिला पंचायत सदस्य व क्षेत्र पंचायत सदस्य के चुनावी नतीजे बसपा के पक्ष में थे। चुनाव परिणाम से बसपा मुखिया मायावती भी बहुत उत्साहित थी लेकिन जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव परिणाम में बसपा की दाल नहीं गली। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में सबसे ज्यादा फजीहत भाजपा की हुई। जिला पंचायत सदस्य व क्षेत्र पंचायत सदस्य के चुनाव में भी भाजपा समर्थित प्रत्याशी कुछ खास नहीं कर पाए थे। हालांकि कल आए परिणाम के बाद भाजपा व बसपा ने चुनाव में धांधली का आरोप भी लगाया था। कुल मिलाकर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम से सपा कार्यकर्ताओं के साथ-साथ दिग्गजों के चेहरे की खुशी देखते बन रही हैं।

पीएम के क्षेत्र में भी सपा विजयी
पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बीजेपी को करारा झटका लगा है। लगभग 16 साल के बाद जिला पंचायत की सीट पर सपा ने बाजी मारी है। वाराणसी सीट पर सपा नेत्री अपराजिता ने बीजेपी प्रत्याशी अमित कुमार सोनकर को हराकार जीत दर्ज की। इससे पहले वर्ष 2000 में वहां सपा उम्मीदवार को जीत मिली थी। इस बार सपा उम्मीदवार अपराजिता को 30 वोट मिले जबकि बीजेपी के अमित सोनकर को 17 वोटों से संतोष करना पड़ा।

Pin It