जाकिर नाईक के भाषणों पर सरकार की है नजर: राजनाथ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

Captureनई दिल्ली। इस्लाम के प्रचार-प्रसार के नाम पर भडक़ाऊ भाषण देने को लेकर सुर्खियों में आये जाकिर नाईक पर गृहमत्री राजनाथ सिंह ने चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि जाकिर के भाषणों पर सरकार की नजर है। हम आतंकवाद से समझौता नहीं करेंगे। जाकिर नाईक के विवादों में आने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री की ओर से यह पहला बयान है। इससे पहले संकेत मिले हैं कि भडक़ाऊ भाषण के आरोप में विवादों में घिरे इस्लाम के प्रचारक जाकिर नाईक की जल्द गिरफ्तारी भी हो सकती है। इस्लाम के प्रचार प्रसार के नाम पर भडक़ाऊ भाषण देने वाले जाकिर नाईक पर जल्द शिकंजा कसता जा रहा है। जाकिर नाईक अभी देश से बाहर हैं, उनके वतन लौटने पर गिरफ्तारी हो सकती है।
पेशे के डॉक्टर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के प्रमुख जाकिर नाईक ने अपने पुराने बयानों पर सफाई देने के बदले नया बयान जारी किया है। इतना ही नहीं केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने भी मुस्लिम धर्म प्रचारक जाकिर नाईक के भाषणों को आपत्तिजनक बताया और उनके खिलाफ कार्रवाई का संकेत दिया है। नायडू ने कहा कि गृह मंत्रालय सबका विश्लेषण करेगा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि अगर बांग्लादेश या भारत सरकार को नाईक और इस्लामिक आतंकवादी समूहों के बीच संबंधों को लेकर कोई भी सबूत मिलता है, तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। गौरतलब है कि जाकिर नाईक को लेकर देश में भले ही बहस चल रही हो लेकिन उनका समर्थन करने वालों की संख्या भी कम नहीं हैं। लालू की पार्टी आरजेडी से बिहार के दरभंगा से कई बार सासंद और केंद्र में मंत्री रह चुके अशरफ अली फातमी ने कहा कि नाईक इस्लाम ही नहीं बल्कि सभी धर्मों के स्कॉलर हैं।

जाकिर नाइक पर दिग्विजय सिंह की सफाई
बांग्लादेश की राजधानी ढाका में एक कैफ़े पर हुए चरमपंथी हमले के बाद ज़ाकिर नाइक जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं। रिपोर्टों के मुताबिक कुछ हमलावर ज़ाकिर नाइक को फॉलो करते थे। दिग्विजय सिंह का जो वीडियो सामने आया है, वो 2012 का है। इसमें देखा जा सकता है कि दिग्विजय मंच पर बैठे हैं और जाकिर की सराहना कर रहे हैं।अपने भाषण में दिग्विजय ज़ाकिर को मैसेंजर ऑफ़ पीस (शांतिदूत) बता रहे है ंदिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर इसका स्पष्टीकरण भी दिया है। ज़ाकिर नाइक की कॉन्फ्रेंस में मेरा भाषण दिखाया जा रहा है। मैंने धार्मिक कट्टरपन के खिलाफ बोला है और सांप्रदायिक सौहार्द की अपील की। दिग्विजय ने एक और ट्वीट किया, कॉन्फ्रेंस सांप्रदायिक सौहार्द के लिए और आतंकवाद के खिलाफ थी। इस्लाम निर्दोषों की हत्या के खिलाफ है। एक और ट्वीट में दिग्विजय ने सरकार को चुनौती देते हुए कहा, अगर भारत सरकार या बांग्लादेश सरकार के पास ज़ाकिर नाइक के आईएसआईएस के साथ मिले होने के कोई सबूत हैं तो उन्हें उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

Pin It