जरदोजी कारीगर ने फांसी लगाकर दी जान

लखनऊ। सआदतगंज इलाके में एक जरदोजी कारीगर ने फांसी लगाकर जान दे दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया जा रहा है कि फोन पर मां से किसी बात को लेकर विवाद होने पर कारीगर ने फांसी लगाई। सआदतगंज एसओ शशिकान्त यादव ने बताया कि मूलरूप से दिल्ली निवासी अहमद (३२) का परिवार मोवीनगर कैम्पल रोड पर किराए के मकान में रहता है। जबकि वह लुधियाना में आरी जरदोजी कारीगर का काम करता है। वह कुछ दिन की छुट्टी पर घर आया था। कारीगर की पत्नी जहांआरा ने बताया कि वह शाम को सब्जी लेने बाजार गई थीं। वापस आई तो देखा कि अमहद का शव दुपट्टे के सहारे पंखे से लटका हुआ है। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को उतारा। जहांआरा ने बताया कि जब वह बाजार गई थी तब अहमद अपनी मां से बात कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि फोन पर मां से किसी बात पर अनबन होने पर अमहद ने फांसी लगा ली। अहमद के दो बेटे हैं। उसने प्रेम विवाह किया था।

ट्रांसफार्मर की चिंगारी से दस झोपडिय़ां जलकर राख
लखनऊ। महानगर के अकबरनगर इलाके में मंगलवार तडक़े ट्रांसफार्मर की चिंगारी की चपेट में आने से दस झोपडिय़ां जलकर राख हो गईं। सूचना पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। अकबरनगर बंधे के पास सैकड़ों लोग झोपड़ पट्टी डालकर रहते हैं। यहां रहने वाले भूरे ने बताया कि वह परिवार के साथ झोपड़ी में सो रहे थे। इस दौरान ट्रांसफार्मर में तेज धमाका हुआ। इस पर बाहर आए तो देखा कि ट्रांसफार्मर से निकली चिंगारी की आग उनकी झोपड़ी पर पड़ी। चिंगारी पड़ते ही झोपड़ी में आग लग गइर्ï। उन्होंने आनन-फानन में परिवार के अन्य सदस्यों को बाहर निकाला। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आग की चपेट में आने से लगभग दस झोपडिय़ां जलकर राख हो गईं। बताया जा रहा है कि आग मतीन की झोपड़ी में भी लगी उसके आगे लोहे की टीन होने की वजह से आगे नहीं बढ़ पाई। आइसा ने बताया कि आग की चपेट में आने से घरेलू सामान जलकर राख हो गया।

Pin It