चेचक के प्रकोप से इलाज के लिए भटक रहे लोग

आजमगढ़। जिले में चेचक का प्रकोप बढ़ता जा है। एक के बाद एक कर लोग इसके चपेट में आ रहे हैं। सब मिलाकर यह रोग महामारी का रुप लेता दिखाई दे रहा है मौसम बदलने के साथ इलाके के लोग इस प्रकोप से परेशान है। यही नहीं सैकड़ों लोगों के बीमार होने के बाद भी अब तक गांवों में टीकाकरण शुरू नहीं किया गया है। विभाग को 7 अप्रैल का इंतजार है। कारण कि इस दिन इंद्रधनुष कार्यक्रम शुरू होगा। इसके तहत गांवों में टीके लगाये जायेंगे। तब तक कोई मरता है तो स्वास्थ्य विभाग को कोई लेना-देना नहीं है।
जिले के लगभग दो दर्जन गांवों में डे सौ से अधिक लोग चेचक से पीड़ित हैं। मोहम्मदपुर ब्लॉक के चकिया हुसैनाबाद गांव में कई बच्चे चेचक के चपेट में है। इसकी संख्या लगातार बड़ रही है। इसी तरह कोयलसा ब्लाक के पिपरिया, ढचवा, दरियापुर, रानीपुर, कैदपुर, मोलनाथपुर, ककरहीं, जफरामऊ, पिपरी, हुसेपुर, सरैया, बासुसलार, मड़हा, सुरजीपुर, बढिय़ा, डिबनिया, सिकहुला, भरौली, छतौनी, भटौली, रत्नावे, बभनपूरा, गोपालगंज, हिसामुद्दीनपुर, बूढऩपुर, बड़ेगांव, मोहननगर, केशवपुर, मार्टीनगंज ब्लाक के निकासीपुर, चितारा, फूलपुर ब्लाक के सुदनीपुर सहित जिले के तीन दर्जन से अधिक गांवों में चेचक का प्रकोप फैला हुआ है। अब तक किसी भी गांव में न तो चिकित्सकीय टीम पहुंची और ना ही चिकित्सक।

Pin It