चुनावी रणनीति बनाने के लिए राजधानी में जुटे भाजपा के दिग्गज

कार्यसमिति में साल 2017 की चुनावी रणनीति  पर हुई चर्चा
सपा सरकार की असफलताओं को  गिनाने पर रहा जोर
मोदी सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का किया गया आहान 

GV14पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक आज सीएमएस गोमती नगर विस्तार में शुरू हुई। इसका उद्घाटन प्रदेश प्रभारी और राष्टï्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर ने किया। कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कैलाश बाजपेयी ने की। इस मौके पर बाजपेयी ने कहा कि हमारी सरकार की नीतियां दलित, वंचित और शोषित समाज के लिए हैं। सरकार की नीतियों से 5 करोड़ बीपीएल परिवारों को गैस कनेक्शन मिल सका है। बैठक में प्रमुख रूप से साल 2017 के चुनावी रणनीति और तैयारी पर चर्चा हुई।
प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बाजपेयी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में अराजकता का माहौल है और सरकार विकास की बात कर रही है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार का विकास का दावा धोखा है और वह अंधेरी गलियों में गुम हो चुका है। बाजपेयी ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर पलटवार करते हुए कहा कि सपा का आरोप गलत है। केंद्र सरकार प्रदेश सरकार की भरपूर मदद कर रही है लेकिन वह उसके मुताबिक कार्य ही नहीं कर पा रही। इस मौके पर उन्होंने मोदी सरकार के दो सालों की उपलब्धियां भी गिनाई। उन्होंने कहा कि दो सालों में मोदी सरकार ने गरीब, किसानों, युवाओं और महिलाओं के लिए बहुत काम किया है। उन्होंने कहा कि जन-धन योजना से गरीबों के खाते खुले जबकि डिजिटल इंडिया से देश का विकास हो रहा है। इतना ही नहीं कौशल विकास योजनाओं से गरीबी दूर की जा रही है। आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियों पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग देकर लोगों तक भेजा जाएगा ताकि वे अपनी बात उन्हें समझा पायें। कार्यसमिति की बैठक प्रदेश के सांसद और विधायकों सहित जिला अध्यक्ष भी शामिल हैं। इस बैठक में संगठनात्मक समीक्षा और कार्ययोजना पर भी मंथन किया जाएगा। इसमें जन समस्याओं को पार्टी कैसे माध्यम दे इस पर भी विचार किया जाएगा।

पोस्टर से गायब रहे राजनाथ
शहर में जगह-जगह लगी भाजपा की कार्यसमिति के बैठक के पोस्टर से राजनाथ की तस्वीर गायब रही। शहर में लगे बैनर और होर्डिंग्स में मनोज सिन्हा सहित प्रधानमंत्री से लगाए तमाम दूसरे वरिष्ठ नेताओं की तस्वीर तो लगी है, पर इन होर्डिंग्स से राजनाथ सिंह की तस्वीर गायब है। इससे पार्टी और कार्यकर्ताओं में कई तरह की अटकलें लगाई जाने लगी हैं। इतना ही नहीं दबी जुबान में गुटबाजी की भी बात सामने आने लगी है।

खाना खिलाने से पहले सीएम ने लगाई आईपीएस अफसरों की क्लास

मुख्यमंत्री ने आईपीएस अधिकारियों को पढ़ाया जिम्मेदारी का पाठ
पुलिस अधिकारियों को दी नसीहत, कहा जनता का विश्वास जीते पुलिस

लखनऊ। आज से शुरू हुए आईपीएस वीक के दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आईपीएस अधिकारियों के सम्मेलन को संबोधित किया। विधानसभा के तिलक हाल में हुए इस सम्मेलन में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अधिकारियों को जिम्मेदारी और कर्तव्य का पाठ पढ़ाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस को जनता का भरोसा जीतना चाहिए। उन्होंने कहा कि पुलिस के कामकाज से ही सरकार की छवि बनती और बिगड़ती है। उन्होंने स्नैपडील अपहरण मामले में पुलिस का की कार्रवाई को सराहा। आईपीएस अधिकारी सीएम आवास पर दोपहर का भोजन भी करेंगे। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को भोजन से पहले जिम्मेदारी और कर्तव्य की सीख दी। आईपीएस वीक में वरिष्ठ अधिकारियों में अनीता सिंह, देवाशीष पांडा गृह सचिव, और डीजीपी जावीद अहमद सहित सभी  मौजूद थे।

यश भारती पुरस्कार पर हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब
लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने आज यश भारती पुरस्कार के मामले पर सरकार से जवाब तलब किया है। न्यायमूर्ति ए.पी. शाही और ए.आर. मसूदी की पीठ ने पूछा कि यश भारती सम्मान पुरस्कार दिए जाने का क्या आधार है? कोर्ट ने यह भी कहा कि यश भारती पुरस्कार देने के लिए शासन ने आवेदन क्यों मांगा। कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को चार सप्ताह में जवाब देने के लिए कहा है। कोर्ट ने यह फैसला निलंबित आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दिए जाने वाले यश भारती पुरस्कार को इलाहाबाद हाई कोर्ट के लखनऊ बेंच में चुनौती देने वाली याचिका पर दी।

Pin It