चीन के सामान का भारत में होगा बहिष्कार: यशवंत सिंह

  • 2 अक्टूबर को चीनी सामानों के बहिष्कार का लिया जाएगा संकल्प

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Capture8लखनऊ। देश की सीमा का बार-बार अतिक्रमण करने वाले चीन को सबक सिखाना जरूरी है। इसके लिए हमें चीन की अर्थव्यवस्था पर चोट करना होगा क्योंकि चीनी सामान का सबसे बड़ा बाजार भारत है। ऐसे में लखनऊ में आगामी 2 अक्टूबर को लखनऊ में चीनी सामानों के बहिष्कार का संकल्प लिया जायेगा। यह विचार एमएलसी यशवंत सिंह ने उत्तर प्रदेश लोकतांत्रित सेनानी कल्याण समिति के कार्यक्रम के दौरान व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि चीन में निर्मित उत्पादों का बहिष्कार करने की रणनीति बनाई गई है, जिसका आने वाले समय में पालन कराने की कोशिश की जायेगी।
उत्तर प्रदेश लोकतंत्र सेनानी कल्याण समिति की बैठक में एमएलसी श्री सिंह ने कहा कि लोकतांत्रिक सेनानियों का यह फैसला बहुत ही अच्छा है लेकिन इसको जन-जन तक पहुंचाने की जरूरत है। इसलिए आने वाले समय में जनता तक चीनी उत्पादों के इस्तेमाल पर रोक लगाने की जनता से अपील की गई है। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता रामसेवक यादव ने की। उन्होंने कहा कि कार्यसमिति ने चीनी उत्पादों के बहिष्कार संबंधी प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित कर आतंकवाद की कड़े शब्दों में निन्दा की है। इस बैठक में लोकतात्रित सेनानियों ने अपने आश्रितों के लिए सभी क्षेत्रों में दो फीसदी आरक्षण की मांग की है। अस्पतालों में अलग से काउंटर और बसों में अलग सीट की मांग भी की गई है। इसके लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को ज्ञापन भी दिया गया है। इस बैठक में बड़ी संख्या में लोकतंत्र सेनानी भी उपस्थित रहे।

Pin It