चीन के सामान का बहिष्कार चाइना को आइना दिखाने के लिए पर्याप्त: यशवंत सिंह

  • गांधी जयंती पर लोकतंत्र सेनानी संगठन ने निकाला जुलूस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। देश को बार-बार आंखे दिखाने वाले चीन को आईना दिखाने के लिए चीन में निर्मित सामान का बहिष्कार करना जरूरी है। यदि देश की जनता संकल्प ले कि वह चीन का बना कोई भी सामान इस्तेमाल नहीं करेगी, तो चीन को मजबूरन झुकना पड़ेगा।
यह विचार विधान परिषद सदस्य और लोकतंत्र सेनानी यशवंत सिंह ने गांधी जयंती पर चीनी उत्पादों के बहिष्कार हेतु निकाले गये जुलूस के दौरान कहीं। उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकारों के अपील की है कि वह राष्ट्रहित में चीन में बने उत्पादों पर पूरी तरह से रोक लगायें। जुलूस में देशी ‘अपनाओ-देश बचाओ’ और चीन निर्मित उत्पादों का – बहिष्कार करो- बहिष्कार करो के नारे भी लगाये गये।
लोकतंत्र सेनानी संकल्प समारोह में बतौर मुख्य अतिथि यशवंत सिंह ने कहा कि चीन हमारे देश में दो लाख 22 हजार करोड़ रुपये का कारोबार करता है। यह कारोबार उसकी अर्थ व्यवस्था की रीढ़ है। यदि हम इस सामान को न खरीदें तो चीन की अर्थ व्यवस्था की रीढ़ टूट जाएगी। उन्होंने कहा कि चीनी सामान से हमारे बाजार भरे पड़े हैं। हम सस्ते के चक्कर में इन्हें खरीद रहें हैं। यह खरीद देश की सम्प्रभुता के खिलाफ है, सीमा पर ल? रहे जवानों के बलिदान का अपमान है। श्री सिंह ने कहा कि चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का आंदोलन देश का आन्दोलन है, हम सबका आन्दोलन है। इस दौरान लोकतंत्र सेनानी समिति के प्रदेश अध्यक्ष रामसेवक यादव ने कहा कहा कि चीनी वस्तुओं का बहिष्कार ही सीमा पर शहीद हुए जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि है।

Pin It