चतुर्वेदी अपराध तो हसन दिलायेंगे जाम से मुक्ति

जनता के लिये लोकप्रिय तो अपराधियों के लिये कडक़ रहे दोनों अधिकारी

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आखिरकार लखनऊ जनपद में पूर्व में तैनात रहे दो अपर पुलिस अधीक्षकों की वापसी हो गई है। देर से ही सही लेकिन एनेक्सी में बैठे हुये अधिकारियों ने दोनों अधिकारियों की तैनाती कर दी है। ज्ञान प्रकाश चतुर्वेदी अपराधियों पर लगाम लगाएंगे तो हबीबुल हसन जाम से निजात दिलाएंगे।
अपर पुलिस अधीक्षक ज्ञान प्रकाश चतुर्वेदी को शासन ने भ्रष्टाचार निवारण संगठन से तबादला कर अपर पुलिस अधीक्षक अपराध लखनऊ के पद पर तैनात किया गया है। श्री चतुर्वेदी पूर्व में भी अपर पुलिस अधीक्षक क्राइम रहने के साथ ही लखनऊ जनपद में एएसपी प्रोटोकॉल, एएसपी यातायात सहित कई पदों का जिम्मेदारियों से निर्वहन किया है। लोकप्रिय होने के साथ ही श्री चतुर्वेदी अपराध को लेकर चौकन्ना भी रहते है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक सबसे बड़ी बात यह है कि लखनऊ जनपद में क्राइम के विषय पर कार्य करने वाला कोई भी अधिकारी मौजूद नहीं था। अपराध की हर घटना को एसएसपी राजेश कुमार पांडेय को ही देखना पड़ता था। हालांकि इसका प्रभाव यह पड़ा कि इंस्पेक्टर और थानाध्यक्ष सही घटना का पर्दाफाश करने लगे। दूसरी तरफ एएसपी ट्रॉसगोमती और एएसपी ग्रामीण रहे हबीबुल हसन लोकप्रिय होने के साथ ही जनता और अधिकारियों के प्रति जवाबदेह रहे। अच्छा कार्य भी किया था, लेकिन बीच में गलतफहमियों के शिकार हो गये थे जिसके बाद इनको डीजीपी कार्यालय से अटैच कर दिया गया था। श्री हसन को अपर पुलिस अधीक्षक यातायात बनाया गया है।

Pin It