गोली मारनी है तो कमरे में चलिए…

यदि लौटने का आश्वासन ही देते प्रणय और ऐश्वर्या तो नहीं होती घटना
4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। गाजीपुर थाना क्षेत्र में इंस्पेक्टर द्वारा पत्नी को गोली मारने के बाद स्वयं को गोली मारने की घटना ने कई सवाल छोड़े हैं। एक तरफ जहां शराब का नशा था वहीं दूसरी तरफ घर से बच्चों के जाने का गम था। घटना के बाद पत्नी ममता त्रिपाठी ट्रॉमा सेंटर के आईसीयू में जिन्दगी और मौत से जंग लड़ रही है। जबकि दोनों बच्चे अपनी मां के जीवन के लिए भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं। गोली मारने वाली घटना मकान के बाहर होती लेकिन ममता की एक बात से नशे में चूर इंस्पेक्टर ने कमरे के अंदर ले जाकर गोली मार दी।
बता दें कि गाजीपुर थाना क्षेत्र के इंदिरानगर सेक्टर-सी मकान नम्बर 1309 में अशोक त्रिपाठी सपरिवार किराये पर रहते थे। अशोक लखनऊ में एसआईटी इंस्पेक्टर के पद पर तैनात थे। सुबह किसी मामूली बात पर अशोक का अपनी पत्नी ममता के साथ विवाद हो गया। विवाद होने से घर में मौजूद प्रणय अपनी बहन ऐश्वर्या को लेकर अपने दोस्त के घर चला गया। देर रात नशे में चूर होकर अशोक घर पहुंचे तो दोनों बच्चों को घर में नहीं पाकर विवाद करने लगे। पति-पत्नी विवाद करते हुए कमरे से बाहर चले आये। जहां प्रणय का दोस्त सचिन भी अपने घर से बाहर निकल आया। सचिन ने बताया कि अशोक बार-बार दोनों बच्चों को वापस बुलाने की बात कर रहे थे। इसकी जानकारी होने पर सचिन ने अपने मोबाइल से प्रणय के मोबाइल पर कॉल कर वापस आने की बात कही। लेकिन प्रणय ने घर आने से साफ इंकार कर दिया। वहीं नशे में गुस्सा होने के कारण अशोक घर के बाहर ही पिस्टल निकालकर ममता के सिर पर सटाते हुए गोली मारने की धमकी देने लगे। बार-बार धमकी देने के बाद ममता ने अशोक से कहा कि यदि गोली मारनी है तो कमरे के अंदर चलिये। कमरे में चलकर गोली मार दीजिए। इतना सुनना था कि गुस्से में अशोक ममता को कमरे के अंदर ले गया और पिस्टल से ममता को गोली मार दी। ममता को गोली मारने के बाद अशोक ने स्वयं को भी तुरन्त गोली मार दी। गोली चलने की आवाज सुनकर सभी लोग एकत्र हो गये। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने दोनों को तत्काल लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया। जहां अशोक को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया जबकि ममता को ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया। समाचार लिखने तक ममता कोमा से बाहर है। उसे आईसीयू में रखा गया है।
मम्मी होश में हैं लेकिन…
प्रणय ने बताया कि मम्मी कोमा से बाहर हैं। मम्मी होश में हैं लेकिन कुछ भी बात नहीं कर रही हैं। प्रणय के मुताबिक यदि वह अपनी बहन को लेकर वापस आ जाता तो शायद यह घटना नहीं होती।
पालतू कुत्ते ने छोड़ दिया खाना-पीना
इंसान यदि इंसान को प्यार करता है तो इसके पीछे स्वार्थ होता है। अशोक की मौत के बाद घर के पालतू कुत्ते ने खाना-पीना छोड़ दिया है। वह लगातार रो रहा है। मकान मालिक ने बताया कि कई बार खिलाने का प्रयास किया गया लेकिन उसके बाद भी वह लगातार रो रहा है।

Pin It