गोमती का अस्थाई बंधा लोगों के लिए बना मुसीबत

क्षेत्र में रहने वाले लोगों के घरों में घुसा पानी

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमती नदी का अस्थायी बंधा फैजुल्लागंज के लोगों के लिए मुसीबत बन गया है। यहां रहने वाले लोगों के घरों के अंदर और बाहर घुटने तक पानी भर गया है। इस कारण लोग अपने-अपने घरों में कैद हो गये हैं। स्कूली बच्चों की पढ़ाई और नौकरी पेशा लोगों के लिए घर से बाहर निकलना चुनौती बनता जा रहा है। वार्ड के लोगों की समस्याओं का समाधान करने की बजाय प्रदर्शनकारियों के ऊपर लाठियां भांजी जा रही है। ऐसे में क्षेत्र के लोगों में पुलिस और प्रशासन के खिलाफ काफी गुस्सा है।
फैजुल्लागंज वार्ड निवासी मीना का आरोप है कि वार्ड के लोगों की समस्याओं की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। सभासद से लेकर नगर आयुक्त तक को ज्ञापन दिया जा चुका है। क्षेत्र की महिलाओं, पुरुषों और बच्चों ने अपनी आवाज हाकिम के कानों तक पहुंचाने की कोशिश की लेकिन सुनवाई होने की बजाय प्रदर्शन कारियों पर लाठियां भांजी गई। ऐसे में जलभराव की समस्या से समाधान और प्रशासनिक स्तर से न्याय मिलने की उम्मीद भी खत्म हो गई है। इसलिए क्षेत्र की जनता अपनी समस्याओं के संबंध में नगर विकास मंत्री और मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपने का निर्णय ले चुकी है।
असफाक का कहना है कि नगर निगम और प्रशासन क्षेत्र के लोगों की समस्याओं का समाधान करने के प्रति बिल्कुल भी गंभीर नहीं है। यह मंगलवार को पक्का पुल पर अपनी मांगे मनवाने के लिए प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठियां चलवाकर प्रशासन ने स्पष्ट करा दिया है। इसलिए क्षेत्र के लोगों ने जनसमस्याओं के प्रति तानाशाही रवैये अपनाने वाले प्रशासन से संघर्ष करने की बजाय पलायन करने को ही उचित समाधान मान लिया है। इस वार्ड में रहने वाले लोगों का पलायन शुरू हो गया है। असरफी देवी का कहना है कि कुडिय़ा घाट पर बनाये गये अस्थायी बांध की वजह से आस-पास के क्षेत्रों में जलभराव का संकट उत्पन्न हो गया है। बरसात होने के बाद बांध से सटे गांव जलमग्न हो गये हैं। क्षेत्रीय लोगों का खाना-पीना भी मुश्किल हो गया है। करीब 96 घंटे का समय बीत चुका है लेकिन घरों से पानी निकालने का कोई प्रबंध नहीं हुआ है। ऐसे में लोगों ने न्याय की उम्मीद छोड़ दी है।

Pin It