गाजियाबाद में एके 47 से चली गोलियों से कांपा प्रदेश

  • मायावती ने कहा- प्रदेश में कानून व्यवस्था बदतर, इस्तीफा दे अखिलेश सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

001लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था सिर्फ नाम की रह गई है। आम आदमी हो या वीआईपी कोई भी सुरक्षित नहीं है। अपराधी बेखौफ होकर हत्या, लूट, डकैती, रेप और चोरी की घटनाओं को अंजाम देने में कामयाब हो रहे हैं। वह पुलिस को खुलेआम चुनौती दे रहे हैं। इसके बावजूद पुलिस कुछ नहीं कर पा रही है। सूबे की पुलिस और अधिकारी अपराधियों पर नियंत्रण लगाने की बजाय कमाई वाले थानों पर तैनाती करवाने और वसूली की रकम बांटने में व्यस्त हैं। जबकि आम जनता में खौफ का माहौल है। उसको अपनी सुरक्षा की चिन्ता सताने लगी है।

गाजियाबाद में गुरुवार को देर शाम एके 47 से लैस बदमाशों ने ताबड़तोड़ करीब 45-50 राउंड फायरिंग करके

यूपी की कानून व्यवस्था बद से बदतर होती जा रही है। अपराधी बेखौफ होकर एक के बाद एक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। सरकार कानून व्यवस्था संभालने में पूरी तरह फेल साबित हो रही है। इसलिए प्रदेश सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए।
मायावती, बसपा सुप्रीमो

गाजियाबाद गोली कांड से साबित हो गया है कि यूपी में लॉ एंड आर्डर बुरी तरह फेल हो चुका है। यहां लॉ एंड आर्डर की बजाय लो आर्डर की स्थिति बन गई है। मां बेटी की सुरक्षा को लेकर हमने कल ही आंदोलन किया था। अब बहुत जल्द कानून व्यवस्था के लिए भी आंदोलन किया जाएगा।
ओम माथुर, प्रदेश प्रभारी बीजेपी

पुलिस तीन थ्योरी पर काम कर रही है। इसमें कई साल पहले एक इनकाउंटर हुआ था। उसको ध्यान में रखकर काम किया जा रहा है। इसके अलावा करीब दो साल पहले हुए मर्डर की घटना को ध्यान में रखकर भी पुलिस जांच कर रही है। फोरेंसिक की टीम भी छानबीन में जुटी है। फिलहाल तेवतिया पर हमले में शामिल हथियार और एक्सयूवी गाड़ी बरामद कर ली गई है। इसके अलावा कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। हिस्ट्रीशीटर शेखर चौधरी की तलाश जारी है। बहुत जल्द घटना को अंजाम देने वाले पुलिस की गिरफ्त में होंगे।
जावीद अहमद  डीजीपी, उ.प्र.

शाहरूख से फिर हुई अमेरिका मेें बदसलूकी

  • एयरपोर्ट पर रोक कर ली गई तलाशी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

बॉलीवुड के किंग खान यानी शाहरुख खान को एक बार फिर अमेरिका में हवाई अड्डे पर हिरासत में लिया गया। इस बात की जानकारी खुद शाहरुख खान ने ट्वीट कर दी। उन्होंने मजाकिया लहजे में ट्वीट किया कि अच्छी बात ये है कि इंतजार के दौरान मैं यहां पोकेमॉन खेल रहा हूं। पिछले सात साल में यह तीसरी बार हुआ है, जब अमेरिकी आव्रजन अधिकारियों ने उन्हें रोका है। हालांकि अमेरिका की सरकार ने इस बात के लिए माफी भी मांग ली है।

लॉस एंजलिस एयरपोर्ट पर हिरासत में लिए जाने पर शाहरुख ने ट्वीट किया-दुनिया में हालात के मद्देनजर मैं सुरक्षा को समझता हूं और उसका सम्मान भी करता हूं, लेकिन अमेरिकी आव्रजन में हर बार सुरक्षा के नाम पर हिरासत में लिया जाना बेहद परेशान करने वाला है।

इंदिरानगर में शराब व्यापारी की गोली मारकर हत्या

  • ज़मीनी विवाद में हत्या की आशंका

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। इंदिरानगर में खुलेआम असलहों से लैस बदमाशों ने शराब व्यापारी पंकज जायसवाल को गोलियों से भून दिया। उसको लोहिया अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इस तरह दिन-दहाड़े पॉश इलाके में हत्या की घटना से आस-पास की कालोनियों में रहने वाले लोगों में दहशत फैल गई है। वहीं पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेकर छानबीन शुरू कर दी है लेकिन नतीजा सिफर है।

राजधानी में बदमाशों के हौसले बुलंद हैं। बदमाश हत्या, लूट और डकैती जैसी संगीन वारदातों को अंजाम देने में कामयाब हो रहे हैं। पुलिसकर्मी वसूली की रकम का बंटवारा करने को लेकर आपस में भिड़ रहे हैं। माडर्न पुलिसिंग का दावा फेल साबित हो रहा है। जबकि एसएसपी मंजिल सैनी बेहतर पुलिसिंग और क्राइम कंट्रोल होने के आंकड़े पेश करती नहीं थक रही हैं। आज सुबह करीब 10:15 बजे बदमाशों ने शराब व्यापारी को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। इंदिरानगर थाना क्षेेत्र के अमराई गांव निवासी पंकज जायसवाल (40) पुत्र राम लखन जायसवाल पेशे से शराब व्यापारी है। जो आज सुबह अपने मकान से कुछ ही दूरी पर स्थित हाजी आरामशीन के पास टहल रहा था। उसी वक्त वैगनआर सवार बदमाशों ने पंकज पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इसमें दो गोली पंकज को लगी और वह गंभीर रूप घायल होकर ज़मीन पर गिर गया। गोली चलने की आवाज़ सुनते ही भगदड़ मच गयी। वहीं हमलावर पंकज को गोली मारते ही मौके से फरार हो गये। मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीररूप से घायल पंकज को लोहिया अस्पताल भेज दिया। जहाां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पंकज की मौत की सूचना मिलते ही परिजनों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस बात की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गये। अधिकारियों ने हमलावरों को जल्द से जल्द पकडऩे का आश्वासन देकर लोगों को शांत कराया।

वसूली में व्यस्त है राजधानी की पुलिस

जहां राजधानी में अपराधी एक के बाद एक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं, वहीं पुलिस सिर्फ और सिर्फ वसूली में व्यस्त नज़र आ रही है। इसलिए राजधानी में अपराध कम होने की बजाय दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। गोमती नगर में गुरुवार को मालखाना इंचार्ज अवधेश सिंह और जीडी मुंशी आनंद में घूस के पैसों के बटवारे को लेकर जमकर मारपीट हुई। कोतवाली में मौजूद अन्य पुलिस कर्मी दोनों के बीच हो रही मारपीट को शांत कराने की बजाय सिर्फ मजा लेते रहे। इस मामले की जानकारी एसएसपी मंजिल सैनी को मिली, तो उन्होंने तत्काल प्रभाव से दोनों पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया। लेकिन घुसखोरी में व्यस्त पुलिस कर्मियों पर लगाम लगाने में एसएसपी नाकाम रही हैं। दरअसल पुलिस की घूसखोरी और वसूली का ये कोई नया मामला नहीं है। बल्कि इससे पूर्व भी मडिय़ांव और अन्य कई थाना क्षेत्रों में वसूली के रूपए को लेकर जमकर मारपीट हुई थी, जिसका विडियो वायरल होते ही एसएसपी ने आरोपी पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया था। ऐसे में एक के बाद एक संगीन वारदातों को अंजाम देने में कामयाब हो रहे बदमाशों पर लगाम लगाने की बजाय वसूली में व्यस्त रहने वाली पुलिस के भरोसे सुरक्षा का दावा बेमानी साबित हो रहा है।

Pin It