गांवों के निरीक्षण के दौरान रात में निवास करें अधिकारी -मुख्य सचिव

भ्रमण के दौरान अधिकारी समस्त अभिलेखों के साथ हो उपस्थित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों तथा अन्य अधिकारियों द्वारा नियत तिथि पर निरीक्षण तथा गांव में रात्रि निवास न किये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुये सख्त निर्देश दिये हैं कि अधिकारी निर्धारित तिथि पर निरीक्षण में अनिवार्य रूप से गांवों में पहुंचकर गांव में ही रात्रि निवास करें। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों के भ्रमण कार्यक्रम का नियत तिथि से पूर्व व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित कराया जाये तथा क्षेत्रीय कर्मचारियों, जन-प्रतिनिधियों आदि को भी सूचित किया जाये, ताकि अधिक से अधिक लोग अपनी समस्याओं का निस्तारण मौके पर करा सकें।
मुख्य सचिव ने यह निर्देश समस्त मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को परिपत्र निर्गत करते हुए कहा। उन्होंने कहा कि भ्रमण के दौरान सम्बन्धित जिलाधिकारी व उपजिलाधिकारी द्वारा यह सुनिश्चित किया जाये कि अधीनस्थ कर्मचारी समस्त अभिलेखों के साथ अवश्य उपस्थित रहें। उन्होंने कहा कि रात्रि निवास के दौरान अधिकारियों द्वारा शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजना जैसे-समाजवादी पेंशन, लोहिया आवास, जनेश्वर मिश्र योजना आदि का सत्यापन किया जाये एवं जन सामान्य से फीड बैक भी प्राप्त किया जाये। उन्होंने कहा कि ग्राम में संचालित विभिन्न निर्माण कार्यों जैसे-सर्व शिक्षा अभियान व आरएमएसए के अन्तर्गत विद्यालयों का निर्माण, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय भवनों का निर्माण तथा उसके उपयोग की स्थिति, बेसिक शिक्षा में गुणात्मक सुधार, 500 से अधिक आबादी वाले ग्रामों को सडक़ से जोडऩे समेत कई महत्वपूर्ण योजनाओं की हकीकत जांचने का काम शामिल हैं।

Pin It