गश्त पर निकले एसआई को चोरों ने मारी गोली

  • घायल एसआई ट्रांमा सेंटर में भर्ती, पुलिस मामले की छानबीन में जुटी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जिले में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। थाना सरोजनीनगर के एसआई आरबी लाल को आज सुबह तडक़े किसी वारदात को अंजाम देने निकले चोरों ने गोली मार दी। घायल एसआई को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती करा दिया गया है। उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।
थाना सरोजनीनगर में हिन्दनगर के पास आज तडक़े चार बजे के करीब एसआई आरबी लाल गश्त पर निकले थे। उन्हें रास्ते में कुछ संदिग्ध लोग दिखाई दिये। एसआई ने युवकों को रोककर पूछताछ करने का प्रयास किया। इसी बीच उन युवकों में से किसी एक ने एसआई पर फायर झोंक दिया, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गये। एसआई को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती करा दिया गया है। इस वारदात से पुलिस विभाग में सनसनी मच गई है। गोली मारने वाले युवकों की धर-पकड़ और मामले की छानबीन में पुलिस जुट गई है। खबर लिखे जाने तक युवकों के संबंध में पुलिस को युवकों के पास कोई जानकारी नहीं मिल पाई थी।
तहजीब के शहर में ताबड़तोड़ हो रही वारदातों से साफ हो चुका है कि अब अपराधियों में खाकी का बिल्कुल भी खौफ नहीं रहा। अपराध और अपराधियों पर नकेल कसने के लिए कई प्रकार की योजनाएं बनी लेकिन सब फेल होकर रह गई हैं। जिले में 1 मार्च से 5 मार्च के बीच राजधानी में ताबड़तोड़ सात हत्याएं पुलिस के लिए बनी चुनौती हैं। इन घटनाओं में बदमाशों ने जिस तरह का दुस्साहस दिखाया, उससे स्पष्ट है कि अपराधियों में पुलिस का खौफ बिल्कुल भी नहीं रहा। इसी प्रकार मुख्यमंत्री आवास से कुछ ही दूरी पर एक लडक़ी का रेप और हत्या कर शव जंगल में फेंकना और उसी के ठीक दो दिन बाद एक युवक का शव मुख्यमंत्री आवास के निकट मिलना भी अपराधियों के दुस्साहस को बयां करने के लिए काफी है। जबकि विभूतिखंड में विवाहिता की हत्या कर गोमती नगर स्टेशन के पास शव फेंकना, ऐशबाग में बेरहम पिता का अपनी ढ़ाई साल की बेटी देव्यांशी और दस माह के बेटे छोटा का गला दबाकर हत्या करना और खुद को पुलिस के हवाले करना, निगोहां में युवती की हत्या कर शव को जंगल में फेंक देना, मिठाई वाले चौराहे के पास असलहों से लैश बदमाशों का ताबड़तोड़ गोली मारकर रितेश अवस्थी की हत्या समेत कई मामलों में अपराधियों का दुस्साहस और पुलिस की सारी योजनाएं फेल होने की बात स्पष्ट होती है। इसलिए पुलिस को अपराधियों में अपना खौफ कायम करने और अपराध पर नियंत्रण लगाने के लिए ठोस कदम उठाना होगा।

Pin It