गवर्नर राम नाईक आजम खान से खफा, स्पीकर को भेजा कड़ा पत्र

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गवर्नर राम नाईक ने कल नगर विकास मंत्री आजम खान द्वारा विधान सभा में की टिप्पणी मामले में बेहद नाराजगी जताते हुए स्पीकर माता प्रसाद पाण्डेय को कड़ा पत्र भेजा है। विधानसभा अध्यक्ष को पत्र भेजकर गवर्नर ने आजम की योग्यता पर भी उठाया सवाल है। वे इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री अखिलेश से भी बात करेंगे।
मालूम हो कि राज्यपाल राम नाईक ने विधानसभा स्पीकर को लेटर लिखकर सदन की कार्यवाही की ऑडियो-वीडियो सीडी मांगी थी। विधानसभा में संसदीय कार्यमंत्री आजम खान ने मेयरों के अधिकारों के संबंध में पारित विधेयक को अनुमोदित नहीं करने के लिए राजभवन पर सवाल खडा किया था। शायद यह पहला मौका था जब किसी मंत्री ने सदन में राज्यपाल पर आरोप लगाया। संसदीय कार्यमंत्री ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस विधेयक को सदन से पारित हुए एक वर्ष से अधिक हो गया, लेकिन, राजभवन से अभी तक इसे अनुमोदित नहीं किया गया। इससे लगता है कि नाईक राजनीतिक कारणों से मेयरों के गलत कामों को संरक्षण दे रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सदस्यों ने खान के आरोपों पर कड़ी आपत्ति जताई और कहा कि राज्यपाल के खिलाफ सदन में कैसे बोला जा सकता है।
खान ने मुख्यमंत्री की मौजूदगी में कहा कि यदि विधेयक में कोई कमी है तो उसे राज्यपाल को बताना चाहिए। कमी को इंगित करते हुए विधेयक सदन को वापस कर देना चाहिए।

Pin It