गमजदा माहौल में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच निकला चेहल्लुम का जुलूस

ड्रोन कैमरे से की गई जुलूस मार्ग की निगरानी

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गमजदा माहौल में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शिया समुदाय के लोगों ने चेहल्लुम का जुलूस निकाला। इमामबाड़ा नाजि़म साहब से जुलूस अकबरी गेट नक्खास, टूडिय़ागंज, बाजारखाला, हैदरगंज, बुलाकी अड्डा होते हुए कर्बला तालकटोरा पहुंचा। जुलूस मार्गों की निगरानी ड्रोन कैमरे की मदद से की गई। पुलिस व प्रशासनिक विभाग के अधिकारियों की टीम जुलूस के दौरान मौजूद रही।
शिया धर्मगुरू मौलाना कल्बे जव्वाद ने इमामबाड़ा नाजिम साहब में मजलिस को खिताब किया। मौलाना ने हजरत इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों की शहादत का मंजर बयां किया तो अकीदतमंद अजादारों की आंखों सें आंसू छलक पड़े। जव्वाद ने हजऱत इमाम हुसैन की पाक जिन्दगी पर विस्तार से प्रकाश डाला, जिसको सुनकर सभी अकीदतमंद गमगीन हो गये। इसके बाद चेहल्लुम का जुलूस निकाला गया। जिलाधिकारी राजशेखर ने बताया कि जुलूस मार्ग की सुरक्षा व्यवस्था बहुत ही चुस्त-दुरुस्त की गई थी। जुलूस मार्गों की ड्रोन कैमरे की मदद से निगरानी की जा रही थी। जोनल और सेक्टर मैजिस्ट्रेटों के साथ पुलिस बल के जवान चप्पे-चप्पे पर मौजूद थे। जुलूस मार्ग की सुरक्षा के अलावा साफ-सफाई का भी बेहतर प्रबंध किया गया था। नगर निगम के कैटिल कैचिंग दस्ते ने सडक़ों पर घूमने वाले आवारा जानवरों को दो दिन पहले से ही पकडऩा और जुलूस मार्ग को साफ करवाने का काम शुरू कर दिया था। जुलूस के मार्ग के अलावा पुराने लखनऊ के संवेदनशील क्षेत्रों में ड्रोन कैमरे से घरों की छतों की निगरानी भी की गई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश पाण्डेय के मुताबिक पुलिस के जवान पूरी मुसतैदी से जुलूस मार्ग की सुरक्षा व्यवस्था में डटे रहे। सीसीटीवी कैमरों और कंट्रोल रूम में बैठे पुलिस बल के जवानों की मदद से पूरे इलाके की निगरानी की जा रही थी। इसके अलावा पुलिस के जवानों को ऊंचे मकानों की छतों पर भी तैनात किया गया था। इसका मकसद जुलूस में खलल डालने वालों और उपद्रवियों का पता लगाकर तत्काल कार्रवाई करना था। जुलूस के दौरान पूरे मार्ग पर अक़ीदतमंदों द्वारा सबीलों का भी आयोजन किया गया था। जुलूस के साथ-साथ अकीदतमंदों ने एक बड़े ट्रक पर भव्य सबील का भी आयोजन किया था जो जुलूस के साथ साथ तबर्रूख का वितरण करती हुई चल रही थी। इसके अलावा मुसलिम जागरूकता मंच की महिलाओं ने वक्फबोर्ड के खिलाफ लिखे नारों का बैनर लेकर जुलूस में शिरकत की। पुलिस और प्रशासनिक विभाग के अधिकारियों की मुस्तैदी के कारण चेहल्लुम पर शहर भर में शांति व्यवस्था कायम रही, कहीं से भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली।

Pin It