गंगा में बही अदीबा अब सुपुर्द-ए-खाक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
cमेरठ। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर की पुत्री डॉ. अदीबा को देर रात किठौर में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। गुरुवार को अदीबा का शव ऋषिकेश के बैराज जलाशय से मिला था। 10 मई को वह ऋषिकेश के लक्ष्मणझूला थाना क्षेत्र में फूलचट्टी के समीप गंगा में डूब गई थी।
बेटी का शव मिलने की खबर पर मंत्री, विधायक, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी सांत्वना देने के लिए मंजूर के घर पर जुटने लगे। खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया तथा स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन समेत अनेक लोगों ने मंजूर को ढांढस बंधाया। डॉ. अदीबा का शव ऋषकेश के बैराज जलाशय से बरामद होने पर पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया था। अदीबा मेरठ के सुभारती मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस पास आउट थी और कॉलेज के देहरादून स्थित कैंपस में प्रशिक्षण ले रही थी। नौ मई को वह अपने कॉलेज के नौ अन्य साथियों के साथ ऋषिकेश बीच कैंपिंग के लिए आई थी। 10 मई को उन्हें वापस लौटना था, इससे पहले वे प्रात: करीब साढ़े आठ बजे गंगा में नहाने के लिए गए थे। इसी बीच गंगा व हेंवल नदी के संगम पर एक पत्थर से पैर फिसल जाने के कारण अदीबा गंगा में डूब गई थी। घटना के रोज से ही उसकी व्यापक स्तर पर तलाश शुरू हो गई थी। गुरुवार को दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे बैराज जलाशय के बाईं ओर तलाश में जुटी एनडीआरएफ की टीम ने अदीबा का शव बरामद किया। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे परिजनों ने शव की पहचान की।
वहीं डॉ. अदीबा को गंगा में तलाशने के लिए लगाई गई 14 टीमें शव बरामद होने के बाद लौट गईं। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, सेना व पुलिस के 138 सदस्य दिन रात इस अभियान में जुटे थे।

Pin It