खेती को अमीरों के हाथों में गिरवी रखने के लिए लाए गए कृषि विधेयक: अखिलेश

खेती को अमीरों के हाथों में गिरवी रखने के लिए लाए गए कृषि विधेयक: अखिलेश

अपनी ही जमीन पर मजदूर बन जाएंगे किसान, मंडियों को खत्म करने की साजिश
बेरोजगार युवकों के साथ सपा को देख बदल गए सरकार के बोल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कृषि विधेयकों और बेरोजगारी को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने एक बार फिर केंद्र व राज्य सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार खेती को अमीरों के हाथों में गिरवी रखने के लिए शोषणकारी विधेयक लाई है।
सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट किया कि भाजपा सरकार खेती को अमीरों के हाथों में गिरवी रखने के लिए शोषणकारी विधेयक लाई है। ये खेतों की मेड़ तोडऩे का षड्यंत्र है और साथ ही एमएसपी सुनिश्चित करनेवाली मंडियों के धीरे-धीरे खात्मे का भी। भविष्य में किसानों की उपज का उचित दाम भी छिन जाएगा और वे अपनी ही जमीन पर मजदूर बन जाएंगे। बेरोजगारी को लेकर प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए सपा प्रमुख ने कहा कि दो साल पहले जो मुख्यमंत्री कह रहे थे कि नौकरियां हैं पर उत्तर प्रदेश में काबिल युवा नहीं हैं, आज वही कह रहे हैं हमारे युवाओं में प्रतिभा, क्षमता और मेधा है। आज जब हम सब ‘बेरोजगार युवाओं’ के साथ खड़े हैं, तो सरकार के बोल बदल गये हैं। सच है ‘जिधर जवानी चलती है, उधर जमाना चलता है’। गौरतलब है कि बेरोजगार युवा रोजगार की मांग को लेकर लगातार आंदोलन कर रहे हैं। इन युवाओं को सपा ने अपना पूरा समर्थन दिया है और युवाओं के साथ मिलकर सरकार के खिलाफ आंदोलन चला रखा है।

नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कॉन्ट्रैक्ट भर्ती को बताया दोषपूर्ण

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर समूह ख व ग के रिक्तपदों पर कॉन्ट्रैक्ट भर्ती करने की प्रस्तावित नियमावली को दोषपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि इससे शोषण को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने प्रस्तावित नियमावली रोकने की मांग करते हुए कहा कि यह प्रक्रिया प्रदेश के शिक्षित बेरोजगार नवयुवकों के लिए अभिशाप साबित होगी और रोजगार की बाट जोह रहे लाखों युवाओं व शिक्षारत छात्रों को हतोत्साहित करेगी। नेता विरोधी दल राम गोविंद चौधरी ने कहा कि सरकारी नौकरियों की कॉन्ट्रैक्ट भर्ती प्रक्रिया में एक परीक्षा उत्तीर्ण कर अभ्यर्थी कॉन्ट्रैक्ट में आएगा और उसके बाद हर छह माह में परीक्षा देगा। यानी एक युवा को 11 बार परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। इस दौरान उसका आर्थिक और मानसिक उत्पीडऩ होगा। पांच साल तक अल्प वेतन पर एक गुलाम की भांति जब नवनियुक्त कर्मचारी काम करेगा तो हर वक्त नौकरी खत्म होने के भय से उसमें भ्रष्ट मानसिकता उत्पन्न होगी।

पहले डाला नशीला स्प्रे, फिर उड़ाया पचास तोला सोना और कैश

घर की दीवार फांदकर घुसे बदमाश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
मेरठ। गंगानगर क्षेत्र के मामेपुर में किसान के परिवार पर बदमाश नशीला स्प्रे डालकर 50 तोले सोना और नकदी उड़ा ले गए। मामेपुर गांव में किसान विक्रांत चौहान उनकी पत्नी और दो बेटे घर पर सोए थे। रात करीब दो बजे बदमाश दीवार फांदकर घर के भीतर दाखिल हुए और परिवार पर नशीला स्प्रे डालकर पूरे घर को खंगाल ले गए। इस दौरान घर के अंदर से करीब 50 तोले सोने की ज्वैलरी और लाखों की नकदी अपने साथ ले गए। सुबह उठाकर सामान बिखरा देखकर पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। सुबह साढ़े सात बजे गंगानगर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। घर के अंदर पालतू कुत्ता भी बदहवास हालत में मिला है।
मामेपुर निवासी सुभाष चंद के बड़े बेटे विकास चौहान नोएडा में रहते हैं। वह आईटी क्षेत्र की प्रतिष्ठित कंपनी में मैनेजर है। विकास का छोटा भाई विक्रांत गांव में ही खेती-बाड़ी संभालता है। विक्रांत बड़ी खेती का किसान है। शुक्रवार की रात विक्रांत अपनी पत्नी सुनीता व दोनों बच्चों अभय और युवराज के साथ कमरे में सो रहा था जबकि मां सरला चौहान बाहर वाले बरामदे में सोयी हुई थी। घर के पिछली तरफ दीवार छोटी है। जहां पर पशु भी बंधे हैं। आशंका जताई जा रही है कि बदमाश इसी दीवार को फांदकर अंदर घुसे। रात करीब साढ़े तीन बजे विक्रांत की पत्नी सुनीता जगी तो उसने दरवाजा खुला पाया। दोनों कमरों में सभी सामान अस्त-व्यस्त हालत में था। विक्रांत व विकास दोनों भाइयों के जेवर पर बदमाशों ने हाथ साफ कर दिया। विक्रांत ने बताया कि बदमाशों ने दोनों कमरों में रखी तीन अलमारियों को पूरी तरह से खंगाल दिया। घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *