खाद्य सुरक्षा योजना को पलीता लगा रहे जिम्मेदार

  • राशन की दुकानों पर पहुंच रहा सड़ा अनाज

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सस्ते राशन से करीब 70 फीसद आबादी का पेट भरने के लिए राज्य सरकार ने जिन हाथों में अनाज और उसके रखरखाव की जिम्मेदारी सौंपी है, वे ही खाद्य सुरक्षा योजना को पलीता लगाने का इंतजाम किए बैठे हैं। उनका काम तो खाद्यान्न को सुरक्षित रखना और राशन दुकानों तक पहुंचाना था। लेकिन जिम्मेदार विभाग इन दोनों दायित्वों में चूक रहे हैं। शासन की नाक के नीचे राजधानी में यह हालत देख कर प्रदेश के अन्य जिलों में सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के हश्र का अंदाजा लगाया जा सकता है।
लखनऊ में खाद्य सुरक्षा योजना का खाद्यान्न रखने का काम नियमों को ताक पर रखकर किया जा रहा है। उप्र राज्य खाद्य एवं आवश्यक वस्तु निगम (एसएफसी) के गोदामों से राशन की दुकानों तक सड़े हुए राशन की सप्लाई की जा रही है। इस मामले में संबंधित विभागों के अधिकारियों के कानों पर तब तक जूं नहीं रेंगी। राशन गोदामों में अनाज की सुरक्षा का भी प्रबंध नहीं है। इस कारण गोदामों में रखा अनाज सड़ जा रहा है। इसी अनाज को गोदामों से दुकानों पर पहुंचा दिया जाता है। इसमें एसएफसी के अधिकारियों की लापरवाही का मामला उजागर हुआ है।

Pin It