खाक हो गये घोटालों के राज

Capture रोहित सिंह
लखनऊ । एक बार फिर स्वास्थ्य भवन में आग लग गई। कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जलकर खाक हो गये। लगातार आग लगने की हो रही घटनाओं से यह आशंका सच में तब्दील हो गई है कि आग लगती नहीं बल्कि लगाई जाती है। आज सुबह 8 बजे के करीब स्वास्थ्य भवन के डीजी ऑफिस में धुआं उठते देखकर लोगों की भीड़ जमा हो गई। उसके बाद आग ने भयंकर रूप धर लिया। मौके पर पहुंची 10 दमकल की गाडिय़ों को आग बुझाने में घंटों मशक्कत करनी पड़ी। आग इतनी भयंकर थी कि घंटों बीत जाने के बाद भी धुआं निकलता रहा। डीजी ऑफिस के तीन कमरों में लगी आग में कई महत्वपूर्ण और जरूरी कागजात जलकर खाक हो गये।
आग लगने से पहले हुआ था ब्लास्ट
वैसे तो आला अधिकारी हर बार की तरह आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बता रहे हैं लेकिन वहां पर मौजूद लोगों का कहना है कि जब स्वास्थ्य भवन में धुआं उठता दिखाई दिया, उससे पहले तेज आवाज का एक धमाका हुआ। जिससे यह आश्ंाका जताई जा रही है कि कहीं आग लगाने में बम का प्रयोग तो नहीं किया गया।
चल रही एनआरएचएम घोटाले की जांच
सीबीआई की ओर से एनआरएचएम घोटाले की जांच तेजी से चल रही है। इस संबंध में सीबीआई की ओर से कई बार स्वास्थ्य भवन में भी छापेमारी की गई है। सूत्रों के मुताबिक घोटाले से जुड़े तमाम पुराने दस्तावेज जलकर खाक हो गये हैं।
आग लगने की पुरानी घटनायें
जनवरी 2006 को सीएसएमएमयू प्रशासनिक भवन में अग्निकांड,16 सितंबर 2010 को केजीएमयू के दंत संकाय के पीरियोडॉॅन्टिक्स विभाग में सुबह लगी आग,16 सितंबर 2010 को दंत संकाय के प्रॉस्थेडॉन्टिक्स विभाग को शाम को, 13 जुलाई 2010 को सरदार पटेल के छात्रावास के किचेन के सिलेंडर में लगी आग, 15 सितंबर 2011 को रेडियोडायग्नोसिस विभाग में एमसीबी में लगी आग, 17 जून को 2011 को रूमेटोलॉजी विभाग में शार्ट सर्किट से लगी आग,11 मई 2011 को रूमेटोलॉजी विभाग के एसी प्लांट में लगी आग, 7 मार्च 2011 को सर्जिकल आंकोलॉजी विभाग की ओटी में लगी आग, 9 मार्च 2011 कंप्यूटर सेल में शार्ट सर्किट से लगी आग, 25 सितंबर 2011 सर्जरी विभाग में शार्ट सर्किट से कॉटन स्टोर में लगी आग, 13 जुलाई 2011 को एसपी हॉस्टल के कि चेन में लगी आग, तीन झुलसे, 26 मार्च 2012 को क्वीन मेरी में एचआईवी काउंसलर के कमरे का एसी जला, 18 जून 2012 को यूरोलॉजी विभाग के स्विच बोर्ड में शार्ट सर्किट से आग, 29 अगस्त 2012 सर्जरी विभाग के पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड में आग।
(आग की इन अधिकांश घटनाओं में जरूरी कागजात व दस्तावेज जलकर खाक हो गये हैं)

मैं लोहिया अस्पताल में थी, मुझे 9 बजे स्वास्थ्य भवन में आग लगने की सूचना मिली। स्वास्थ्य भवन के सभागार में आग लगी है। सभागार में कागजात नहीं रख्ेा जाते , उसकलिए दस्तावेज जलने की कोई जानकारी नहीं है। मामले की जांच कराई जायेगी, उसके बाद ही कुछ स्पष्टï हो पायेगा।
– डॉ. विजयलक्ष्मी, डीजी हेल्थ

Pin It