खाक फाइलों में सुबूत तलाश रही एसटीएफ

स्वास्य भवन में लगी आग का मामला

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureखनऊ। स्वास्थ्य भवन में आग की घटना के बाद एसटीएफ की फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंचकर जांच की। टीम की ओर से जली फाइलों और सामान को बाहर निकलवाया गया। इतनी अधिक मात्रा में दस्तावेज जले हैं कि कमरे खाली कराने में दो दिन का समय और लग सकता है। फोरेंसिक टीम आग लगने के कारणों की जांच की। इसके आलावा टीम खाक हुए दस्तावेज और सामान को हटवाती रही। इस दौरान एक-एक पल की वीडियो रिकार्डिंग हुई।
स्वास्थ्य भवन में आग इतनी भयंकर थी कि घटना के घंटों बीत जाने के बाद भी कई फाइलों से धुआं निकलता रहा था। कमरों के बाहर जली फाइलों का बड़ा ढेर लगा हुआ था। स्वास्थ्य भवन के वित्त अधिकारियों मनमोद सिंह, सीमा सिंह व सी चंद्रशेखरन की के केबिनों में रखे दस्तावेज भी जलकर खाक हो गये। एसटीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि अभी जली हुई फाइलें और सामान हटवाया जा रहा है। अभी कुछ कहना ठीक नहीं है। एसटीएफ अभी 14 जून को लगी आग का पर्दाफाश कर ही नहीं पाई थी कि 5 अगस्त को लगी आग की जांच करने में जुट गई है।

विद्युत सुरक्षा निदेशालय ने जताई आश्ंाका

स्वास्थ्य भवन में 14 जून को लगी आग को लेकर विद्युत सुरक्षा निदेशालय ने अपनी रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग और स्वास्थ्य निदेशालय को सौंप दी गई है। रिपोर्ट में 14 जून को लगी आग पर संदेह जताया गया है। सूत्रों के मुताबिक रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस प्रकार घटनाक्रम हुआ उससे यही लगाता है कि आग अपने आप नहीं लगी।

दोपहर एक बजे जुड़ पाई बिजली

स्वास्थ्य विभाग में आग लगने की घटना के बाद पूरे विभाग की बत्ती गुल हो गई थी, जिससे गुरूवार को पूरी तरह से काम प्रभावित रहा। सुबह से जुटे बिजली कर्मी करीब 1 बजे बिजली जोड़ पाये जिसके बाद लोंगों को राहत मिली। स्वास्थ्य भवन के ग्राउंड फ्लोर पर के कमरों में दिन भर पानी टपकता रहा, जिससे कर्मचारियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Pin It