क्या सिर्फ अखबारों और टीवी चैनलों में निलंबित हैं आईजी अमिताभ ठाकुर

समय से पहुंचे सिविल डिफेंस कार्यालय, किया कार्य

Captureडीजीपी का पहुंचना चर्चा का विषय
कल उत्तर प्रदेश के डीजीपी जगमोहन यादव अचानक सिविल डिफेंस के दफ्तर पहुंचे थे। यह पहला मौका होगा जब सिविल डिफेंस जैसे महत्वहीन दफ्तर में कोई डीजीपी गया हो। सिविल डिफेंस के डीजी कमलेंद्र प्रसाद भी अमिताभ ठाकुर से खासे खफा रहते हैं। डीजीपी का इस तरह अचानक आना चर्चा का विषय बना हुआ है।

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सरकारी नौकरी में रहने के दौरान सामाजिक कार्य करने और अनुशासनहीनता में पाये जाने पर निलम्बित आईजी अमिताभ ठाकुर बुधवार को अपने कार्यालय सिविल डिफेंस पहुंचे और कार्य किया। जबकि अमिताभ ठाकुर को सरकार ने निलम्बित कर दिया है। वहीं इस मामले में आईजी अमिताभ ठाकुर का कहना है कि उनको निलम्बित करने की जानकारी टीवी चैनल और समाचार-पत्रों के माध्यम से हुई है। कोई आदेश अभी तक उनको नहीं मिला है। ऐसे में सवाल उठता है कि आईजी अमिताभ ठाकुर सरकारी आदेश में नहीं सिर्फ चैनलों और समाचार-पत्रों में निलम्बित हुये है क्या?
बुधवार की सुबह दिल्ली से लखनऊ पहुंचे आईजी अमिताभ ठाकुर अपने समय पर कार्यालय सिविल डिफेंस पहुंचे और कार्य करने लगे, जबकि आईजी अमिताभ ठाकुर को सरकार ने दो दिन पूर्व निलम्बित कर दिया था। बता दें कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के खिलाफ आईजी अमिताभ ठाकुर ने धमकी देने का आरोप लगाया था। श्री ठाकुर ने इस मामले में हजरतगंज कोतवाली में तहरीर देकर मुलायम सिंह यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की थी लेकिन पुलिस ने मुकदमा नहीं दर्ज किया। जबकि इसी दिन गोमतीनगर थाने में अमिताभ और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज किया गया।

Pin It