क्या बंद रखने के लिए बना है सांइस म्यूजियम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय में धांधली करने के लिए जिम्मेदार नये नये रास्ते निकाल ही लेते हैं। विश्वविद्याल में किसी भी योजना की शुरुआत छात्रों के हित को ध्यान में रखकर की जाती है लेकिन यह समय के साथ आगे बढऩे के बजाय ठप हो जाती है। ऐसा ही हाल विश्वविद्यालय मे बने आशुतोष प्रधान म्यूजियम का है। यह म्यूजियम बना तो था लेकिन आज तक यह खुला नहीं। इसके न खुलने का कारण आर्थिक तंगी बताया जा रहा है।
विश्वविद्यालय में आशुतोष म्यूजियम का निर्माण वीपी प्रधान ने अपने बेटे की याद में कराया था। इसका उद्देश्य छात्रों को म्यूजियम के जरिये साइंस के प्रति छात्रों में रुचि उत्पन्न करना था। इसके जरीये छात्रों को इस विषय में आई कई दिक्कतों को दूर किया जा सकता था। इसे बनाने के लिए कई लाख रुपये खर्च किये गये थे। आवश्यकता पडऩे पर छात्र म्यूजियम का प्रयोग कर सकते थे। दुर्भाग्य यह है कि विश्वविद्याल में यह म्यूजियम होते हुए भी बंद पड़ा है। छात्रों ने इस बारे मे बताया कि म्यूजियम के होने से विषय मेें काफी मदद हो सकती है लेकिन म्यूजियम के नाम पर एक बंद बिल्डिंग है। हमने इसे कभी खुलते हुए देखा भी नहीं।
जिम्मेदार अधिकारियों से इस पर सवाल करने पर यह जवाब मिलता है कि हमारे पास फंड की कमी है। हम लोग कोशिश कर रहे है कि इसको खोलने के लिए फंड मिल जाए। साथ ही यह भी योजना बना रहे हैं कि उसमें और भी कई विषय सम्मिलित करें जो छात्र हित के लिए जरूरी है।

Pin It