कोहली पैथालॉजी का मामला

रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा मिली कम

17 यूनिट ब्लड की जांच में 5 यूनिट ब्लड में हीमोग्लोबिन की मात्रा मिली कम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोहली पैथालॉजी में छापेमारी के दौरान मिले रक्त को केजीएमयू की पैथालॉजी में टेस्ट के लिए भेजा गया था। 17 यूनिट ब्लड में से करीब 5 यूनिट ब्लड में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम पाई गई है। साथ ही आज खून में बीमारियों जैसे, एचआईवी, मलेरिया, पीलिया, हेपेटाइटिस की जांच की जायेगी और रिपोर्ट एफएसडीए को सौंपी जायेगी।

अभी तक नहीं हुई कार्रवाई

कोहली पैथलॉजी पर छापेमारी के बाद एफएसडीए की नींद टूटी है। तब से एफएसडीए की टीम रोजाना राजधानी के प्राइवेट ब्लड बैंकों में छापेमारी कर रहा है लेकिन अभी तक इन पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है। पिछले तीन दिन एफएसडीए की टीम ने शेखर हॉस्पिटल, फेमिना हॉस्टिपटल, इंद्रा डायग्नोस्टिक, बीएनके हॉस्पिटल और लखनऊ नर्सिंग होम के ब्लड बैंकों पर छापेमारी की जा चुकी है। यहां पर तकनीकी रूप से तमाम खामियों के साथ रक्त की सुरक्षा को लकर भी सवाल उठे हैं लेकिन कोहली के आलावा किसी पर भी सीलिंग की कार्रवाई नहीं हुई है।

प्यादे तो पकड़े गये बड़े मोहरे बाकी

कोहली पैथालॉजी में छापेमारी के दौरान मैनेजर वीके भटनागर और अन्य स्टॉफ को तो गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन इस गोरखधंधे से अपना बैंक बैलेंस बढ़ाने वाले बड़े मोहरों में पैथालॉजी के मालिक वीके क ोहली और उनकी पत्नी चित्रा कोहली अभी तक पकड़ में नहीं आये हैं। लेागों का कहना है कि वह विदेश में रहते हैं लेकिन सूत्रों का कहना है कि वीके कोहली ज्यादातर वह लखनऊ में ही रहकर लखनऊ में ही अपना कारोबार देखता है।

Pin It