कॉलेजों और स्कूलों के पास लगता है शोहदों का जमावड़ा

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

Captureलखनऊ। राजधानी के कॉलेजों और स्कूल के आसपास शोहदे जमा रहते हैं। यह हाल नेशनल पीजी कॉलेज, एपी सेन कॉलेज, महिला डिग्री कॉलेज, क्रिस्चन कॉलेज के सीएमएस, डीपीएस, आरएलबी, व अन्य स्कूलों के बाहर देखा जा सकता हैं। छात्राओं की माने तो कई बार ऐसा होता है कि शोहदे छीटाकशी करके निकल जाते हैं और आस-पास खड़े लोग उनके भददे कमेंट सुन कर चुप्पी साधे रहते हैं। ऐसी स्थिति में शोहदों का मन और बढ़ जाता है।
केस-1
लखनऊ विश्वविद्यालय की आर्ट्स कॉलेज की छात्रा जो ऑटो में बैठकर विश्वविद्यालय आ रही थी। इसी में बैठा एक शोहदा छात्रा के साथ बदसलूकी करने लगा। छात्रा ने इसका विरोध किया लेकिन ऑटों में बैठे अन्य लोग तमाशा देखते रहे। छात्रा ने अपने मोबाइल से प्रॉक्टर ऑफिस में फोन किया। जिस पर प्रॉक्टर ऑफिस से पुलिस भेज कर शोहदे को दबोचा गया।
केस-2
मंगलवार को एलयू की बीए प्रथम वर्ष की छात्रा को कपूरथला चौराहे पर आटो से खींचकर एक शोहदे ने मारा। लेकिन वहां भी लोग तमाशबीन बने रहे। किसी तरह छात्रा ने अपने आपको उसे छुड़ाया।
इस संबंध में एपी सेन कॉलेज की छात्राओं से बात करने पर पता चला की इस प्रकार हर दिन हम लोंगों को शोहदों की ओछी हरकतें सहन करनी पड़ती है। पुलिस की यहां पर कोई व्यवस्था नहीं की गई है। राजधानी में अधिकतर स्कूलों की भी ऐसी स्थिती है। जहां न केवल छात्राओं को बल्कि शिक्षिकाओं को भी भददे कमेंट सुनने को मिलते है।

Pin It