कैबिनेट बैठक में होम्योपैथी के 300 संविदा डॉक्टरों की नियुक्तिके फैसले पर लगी मुहर

  • हस्तशिल्प कर्मियों की पेंशन में बढ़ोत्तरी, अब दो हजार रुपये महीना मिलेगी पेंशन

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
10लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में आयोजित कैबिनेट मीटिंग में होम्योपैथी के 300 संविदा डॉक्टरों की नियुक्ति, दाल के स्टाक की लिमिट को एक वर्ष की अवधि तक बढ़ाने और सुपारी, कत्था पर एक लाख रुपये की खरीद पर वैट और हस्त शिल्प कर्मियों की पेंशन में एक हजार रुपये की बढ़ोत्तरी समेत कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।
कैबिनेट मीटिंग में मुख्यमंत्री के अलावा पार्टी प्रदेश अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव, आजम खान, महबूब अली, अरविन्द सिंह गोप और राजेंद्र चौधरी भी शामिल हुये। इस मीटिंग में मुख्यमंत्री ने मंत्रियों के साथ कई अहम प्रस्तावों पर चर्चा की। इसके बाद उन्हें मंजूरी दी गई। कैबिनेट मीटिंग में होम्योपैथी के 300 संविदा डॉक्टरों की नियुक्ति के फैसले पर भी मुहर लग गयी है। सूबे में दाल के बढ़ते दामों को नियंत्रित करने के लिए दालों के स्टॉक की लिमिट को एक वर्ष की अवधि तक के लिए मंजूरी दी गई है। सुपारी, कत्था पर एक लाख रुपये तक की खरीद पर वैट को भी मंजूरी मिल गयी है। हाई कोर्ट के सरकारी वकीलों की फीस में बढ़ोत्तरी कर दी गई है। प्रदेस सरकार आरसीआई के तहत गरीब बच्चों को 5 हजार रुपये देगी। सरकार ने तिलहन फसलों पर अनुदान राशि को भी बढा दिया है। अनुदान राशि को 10 हजार से बढ़ाकर 13800 कर दिया गया है। प्रदेश सरकार ने हस्तशिल्पकर्मियों की पेंशन में भी वृद्धि कर दी है। हस्तशिल्प कर्मियों को अब से एक हजार रूपए के स्थान पर 2 हजार रुपये बतौर पेंशन मिलेंगे।

Pin It