केवल दो मिनट तक भगवान के स्मरण से होता है कल्याण: आशुतोष जी महराज

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। कलयुग से धर्म का उदय हुआ है। इस युग में धर्म का नाश नहीं हुआ है। कलयुग में दो पल मात्र भगवान का स्मरण करने से मनुष्य को मोक्ष प्राप्त हो जाता है। यह संवाद आशुतोष महराज ने श्रीमदï् भागवत कथा में सुत रौनक कथा के दौरान कहीं। उन्होंने बताया कि सुत मुनि से ऋषियों ने 6 प्रश्न किया।
इन्ही प्रश्नों के अन्दर सम्पूर्ण श्रीमद् भागवत कथा समाई है। कथा पाठ करते हुए आशुतोष महराज ने बताया कि भगवान के 23 अवतार हो चुके हैं। 24वां अवतार कलकि के रूप में कलयुग में होगा। भूतनाथ मन्दिर सभागार में हो रहे श्रीमदï् भागवत कथा के दूसरे दिन सर्वप्रथम बांके बिहारी की आरती की गयी उसके बाद सुत रौनक संवाद से कथा का आरम्भ हुआ। कथा को सुनने के लिए ओम प्रकाश शर्मा, कलावती शर्मा , डॉ.रजीता के अलावा भारी संख्या में श्रद्घालुओं की भीड़ उमड़ी। इस अवसर पर 1008 बाबा बटुकनाथ महाराज ने हरि वंदना पुस्तक का विमोचन भी किया।

Pin It