केजीएमयू में स्लेड मशीन से होगी डायलिसिस, रजिस्ट्रेशन का इंतजार

  • लो ब्लड प्रेशर होने पर भी हो सकेगी डायलिसिस

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के किंगजार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में किडनी की समस्या से जूझ रहे मरीजों को समय रहते इलाज मिल सकेगा। इसके लिए केजीएमयू प्रशासन ने तीन स्लेड डायलिसिस मशीनें खरीदी हैं। इनमें से एक मशीन ट्रॉमा सेंटर स्थित ट्रॉमा वेंटिलेटर यूनिट में और दो मशीनें शताब्दी में लगाई गयी हैं। इनको रजिस्ट्रेशन के बाद शुरू कर दिया जायेगा।
आने वाले समय में ट्रॉमा वेंटिलेटर यूनिट तथा शताब्दी के नेफ्रो डिपार्टमेन्ट में डायलिसिस मशीने लग जाने से किडनी फेल्योर से जूझ रहे मरीजों को राहत मिलेगी। उनको डायलिसिस के लिए लम्बा इंतजार नही करना पड़ेगा। विशेषज्ञों की माने तो इस मशीनों की खासियत यह है कि मरीज का लो ब्लड प्रेशर होने पर भी डायलिसिस हो सकेगी। यह मशीन शरीर में ब्लड के फ्लो को मैनेज कर डायलिसिस करती है।
मरीज का ब्लड प्रेशर लो होने पर अक्सर डायलिसिस नही हो पाती है। डॉक्टरों के अनुसार गंभीर बीमारी में किडनी खराब होने से अचानक ब्लड प्रेशर लो होने से डायलिसिस नहीं हो पाती थी। इससे कई बार मरीज की मौत भी हो जाती थी। केजीएमयू प्रशासन ने जो तीन स्लेड डायलिसिस मशीनें खरीदी हैं, उससे मरीजों को इलाज में राहत मिलने के आसार नजर आ रहे हैं। मशीनें तभी शुरू होंगी, जब उनका रजिस्ट्रेशन होगा।

Pin It