केजीएमयू के दंत संकाय का सर्वर फेल, बिना इलाज लौटे मरीज

  • लाखों खर्च करने के बाद भी नहीं सुधरा सर्वर

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। केजीएमयू के दंत संकाय में इलाज कराने आए मरीजों को सर्वर डाउन होने के चलते घंटों इलाज के लिए इंतजार करना पड़ा। इसलिए दर्जनों मरीज बिना इलाज मिले ही वापस लौट गये। वहीं सैकड़ों मरीज सर्वर शुरू होने का दोपहर तक इंतजार करते रहे। सर्वर डाउन होने के कारण मरीजों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा था।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक मंगलवार को सुबह से ही सर्वर डाउन चल रहा था। इस कारण केजीएमयू में इलाज कराने आने वाले मरीजों को पर्चा बनवाने में समस्या हो रही थी। पर्चा बनवाने के लिए सुबह से ही लोग लंबी कतार में खड़े थे। लेकिन सर्वर खराब होने की जानकारी मिली, तो बहुत से लोग वापस लौट गये। लेकिन कुछ लोग सर्वर दुरुस्त होने का इंतजार करने लगे। इतना ही नहीं लाइन में खड़े लोग बार-बार पर्चा काउंटर पर बैठे लोगों से सर्वर के बारे में पूछताछ भी करते दिखे। इससे पर्चा काउंटर पर बैठे कर्मचारी भी काफी परेशान हो गये थे। इस दौरान पर्चा काउंटर पर बैठे कर्मचारियों की कुछ लोगों से बहस भी हो गई, जिसके बाद मरीजों ने जमकर हंगामा किया। केजीएमयू में सर्वर डाउन होने का यह पहला मामला नहीं है। यहां पर नयी ओपीडी में मरीजों को आये दिन सर्वर डाउन होने के चलते लोगों को इलाज नहीं मिल पाता है। आंकड़ों पर गौर करें, तो अगस्त माह में लगातार 12 दिन तक सर्वर डाउन रहने की समस्या बनी हुयी थी। इस समस्या की वजह से चिकित्सक भी काफी परेशान है। वह बिना रजिस्टे्रेशन ही मरीजों की समस्या अपने स्तर पर निपटाने की कोशिश करते हैं। लेकिन यहां के प्रशासन को मरीजों की समस्या से कोई सरोकार नहीं है। इस समस्या का निदान करवाने के लिए लाखों रूपये खर्च किये जा चुके हैं लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।

Pin It