केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में गार्डों ने की गुंडई, तीमारदार को पीटा

आये दिन पीटे जाते हैं परिजन, नहीं होती कोई सुनवाई

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में मरीजों के परिजनों के साथ आये दिन मारपीट की जा रही है। यहां मौजूद रेजीडेंट डॉक्टर तथा गार्ड कभी भी कि सी को पीट देते हैं। इसी तरह का एक और मामला प्रकाश में आया है। यहां के तीन गार्डों ने मिलकर एक तीमारदार को जमकर पीटा। पीडि़त ने 100 नम्बर पर फोन कर शिकायत की। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीमारदार पर दबाव बनाकर समझौता करवा दिया है।
लखनऊ निवासी सुहैल ने 10 दिन पहले अपनी बच्ची को दिखाने ट्रामा सेंटर आए थे। डॉक्टरों ने बच्ची को एनआईसीयू में भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया था। इस दौरान सुहैल अहमद को बच्ची की देखभाल के लिए लगातार ट्रामा के चौथे तल पर बने एनआईसीयू में रहना पड़ता था और दवा लेने के लिए ट्रामा सेन्टर से बाहर भी आना -जाना पड़ता था। सुहैल का आरोप है कि बाहर आने-जाने के लिए गेट पर मौजूद गार्ड उससे चाय पानी के पैसे लेते थे। मंगलवार की शाम पैसा न देने पर गार्ड भडक़ गये। रात करीब 11 बजे के बाद जब सुहैल दोबारा ट्रामा सेंटर से बाहर निकले तो वहां मौजूद गार्ड तेज कुमार, संजय तथा कमल ने उनको पीट दिया। पीडि़त की सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसे कोतवाली बुलाकर सुलहनामा लिखवा दिया। इससे डरा-सहमा सुहैल बच्ची को लेकर बुधवार की दोपहर ट्रामा सेंटर से चला गया। वहीं केजीएमयू प्रशासन इस पूरे मसले पर मौन है। बताया जा रहा है कि सिक्योरिटी कम्पनी कुलपति के रिश्तेदार की है।

Pin It