कूड़ा हैंडओवर न करने पर नगर निगम सख्त

  • सभी स्टेशनों का कूड़ा आखिर जाता कहां है, रेलवे अथॉरिटी को लिखा पत्र

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शहर में कूड़े की उठान को लेकर नगर निगम अब ऐक्शन मूड में आ गया है और बेशक यह हाल जब जागो तब सवेरा जैसा है लेकिन आखिरकार निगम ने कूड़े की समस्या पर नकेल कसना शुरू कर दी है। हाल ही में नगर निगम ने शहर के बड़े होटलों और मॉलों को अपना कूड़ा निगम को हैंडओवर करने की बात कही थी। अब नगर निगम ने इसी आधार पर रेलवे अथॉरिटी को भी पत्र लिखा है।
निगम ने रेलवे अथॉरिटी को पत्र लिखते हुए पूछा है कि आखिर रेलवे अथॉरिटी चारबाग जैसे व्यस्त स्टेशन से निकला कूड़ा आखिर कहां डिस्पोज करते हैं। साथ ही अन्य स्टेशन से भी कूड़ा कहां जाता है इसकी भी जानकारी निगम प्रशासन ने रेलवे से मांगी। दरअसल म्युनिसिपल बाई लॉज के मुताबिक जिस किसी संस्था से बल्क में कूड़ा निकलता है उसे कूड़ा निस्तारण खुद करना होता है। यदि वह खुद करने में सक्षम नहीं है तो उसे लोकल बॉडी को या किसी प्राइवेट संस्था को हैंडओवर करना होता है। मौजूदा समय में रेलवे ऐसा नहीं कर रहा है। रेलवे की ओर से निगम को कूड़ा हैंडओवर नहीं किया जा रहा है। निगम ने कूड़ा निस्तारण की जिम्मेदारी ज्योति इन्वायोटेक को दी हुई है। इसके अलावा कोई और संस्था इस कार्य के अधिकृत नहीं है। मौजूदा समय में लोग कूड़ा इकट्ठा होने पर इधर-उधर खाली स्थानों पर फेक देते हैं जिसके चलते बीमारियां और गन्दगी फैलती है। निगम अधिकारियों की माने तो रेलवे अधिकारियों से पत्र लिख जवाब तलब किया गया है। एक बार जवाब आ जाए फिर कूड़े के वजन के हिसाब से शुल्क तय किया जाएगा। बता दें बीते दिन निगम ने एयरपोट अथॉरिटी को भी नोटिस इशू किया था। कारण था कूड़ा कलेक्ट करने के बदले टिपिंग फीस न देना।

Pin It