कारगिल विजय दिवस पर याद किए गये वीर शहीद

  • राज्यपाल, मेयर डॉ. दिनेश शर्मा व डीएम राजशेखर सहित अन्य गणमान्य लोगों ने अर्पित किये श्रद्धासुमन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Capture1लखनऊ। कारगिल विजय दिवस के उपलक्ष्य में देश भर में शहीदों को श्रद्धांजलि दी जा रही है। राजधानी लखनऊ में भी शहीद स्थल और शहीद स्मृति वाटिका पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि देश की सुरक्षा पर अपने बेटों को न्योछावर करने वाले मां-बाप धन्य हैं। ऐसे अमर शहीदों की बदौलत ही आम जनता अपने घरों में सुरक्षित रहती है। इसलिए शहीदों को शत-शत नमन करते हैं।
इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि कारगिल युद्ध के समय वह पेट्रोलियम मंत्री थे। 

उस समय शहीदों के परिजनों को पेट्रोल पंप और गैस एजेंसी आवंटित की गई थी। इसका मकसद शहीदों के परिजनों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाना और देश पर मर-मिटने वालों को हमेशा याद करने का जरिया बनाना था। उस वक्त कुल 439 शहीद परिवारों को योजना का लाभ दिया गया था।
दो महीने से अधिक समय तक चले कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान के हमलों का मुहतोड़ जवाब देते-देते हमारे देश के कई सैनिक शहीद हो गये लेकिन देश का ध्वज नहीं झुकने दिया। अपनी जान की परवाह किये बिना हमारे देश की रक्षा का जो बीड़ा शहीदों ने उठाया था और जिस तरह विषम परिस्थितियों में भी पाकिस्तान के मंसूबों को नाकाम कर दिया। उस क्षण के बारे में सुनकर सभी भारतीय जनों को विजय की खुशी भी होती और अपने शहीद जवानों की याद में आखें भी भर आती हैं। आज कारगिल विजय दिवस के मौके पर प्रदेश के राज्यपाल रामनाईक, मेयर डॉ. दिनेश शर्मा व जिलाधिकारी समेत अन्य गणमान्य लोगों ने गोमती तट स्थित शहीद स्मारक व कैंट स्थित शहीद स्मृतिका पर पुष्प अर्पित कर वीर शहीदों को याद किया। इस दौरान राज्यपाल ने कई पूर्व सैनिकों को स्मृति चिन्ह देकर व शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया।

Pin It