कश्मीर में फंसे हैं लखनऊ के 500 अमरनाथ यात्री

  • कश्मीर में इंटरनेट व मोबाइल नेटवर्क को बंद करने से लोग बेहद परेशान
  • सुरक्षा बलों ने कहा जल्द ही छोड़ा जायेगा फंसे हुए यात्रियों को

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। हिजबुल कमांडर बुरहान वानी और उसके साथियों के एनकाउंटर के बाद कश्मीर में कर्फ्यू लगने के बाद पहलगाम व बालटाल में लखनऊ के करीब 500 अमरनाथ यात्री फंस गए हैं। शहर के ठाकुरगंज के निवाजगंज निवासी मनीष रस्तोगी भी तीन अन्य परिवारीजनों के साथ वहां फंसे हैं। मनीष ने बताया कि बाबा के दर्शन के बाद शनिवार को हिमगिरी ट्रेन से जम्मू से वापसी का रिजर्वेशन है, लेकिन वह शनिवार तक बालटाल से नहीं चल सके थे। सैंकड़ों गाडिय़ां फंसी हैं। बालटाल में फंसे मनीष ने बताया कि सुरक्षा बलों ने रात 11 बजे से तीन बजे के बीच सुरक्षा घेरे में यात्रियों को श्रीनगर की ओर निकालने का आश्वासन दिया है। इसलिए वह शाम से ही गाड़ी में बैठे हुए हैं। अभी तक गाडिय़ों को छोड़ा नहीं गया है। उम्मीद है कि रात तीन बजे से पहले यात्रियों को को निकाला जाएगा। मनीष ने बताया बालटाल में हजारों यात्री दो दिन से रुके हैं।
मोबाइल संपर्क न हो पाने से बढ़ी चिंता
हिंसा के बाद कश्मीर में बंद कर दिए गए इंटरनेट और नेटवर्क में आ रही दिक्कतों के चलते भी वहां यात्रा में फंसे लोगों के लिए दिक्कतें बढ़ी हैं। इंदिरा नगर निवासी विजय की समिति के तमाम लोग वहां भंडारा लगाए गए हैं, लेकिन बालटाल में यात्रा रुक जाने से वहां दिक्कतें हैं। विजय ने बताया कि समिति के तमाम लोगों के फोन वहां काम नहीं कर रहे है। नेट वहां बंद करवा दिया गया है। बड़ी मुश्किल से बात हो सकी। ट्रांसगोमती निवासी अखिलेश सिंह के दोस्त भी वहीं यात्रा पर गए हैं, जिनसे बात नहीं हो सकी।

Pin It