कलेक्शन एजेंट की हत्या कर लाखों की लूट जमीन के विवाद में कई राउंड फायङ्क्षरग

सरोजनीनगर और आलमबाग में हुई घटना, हमलावरों को पकडऩे के लिये बनाई गईं कई टीमेंCapture

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में एक तरफ जहां आलमबाग कोतवाली क्षेत्र में दिन दहाड़े कार सवार दबंगों ने जमीन पर कब्जा करने को लेकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर सनसनी फैला दी वहीं दूसरी तरफ सरोजनीनगर थाना क्षेत्र में बदमाशों ने कैश वैन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर कैश से भरा हुआ बैग लूट ले गये। इस घटना में कैश वैन में सवार एक कर्मी की जहां मौत हो गई वहीं दो गम्भीर रूप से घायल हो गये। सूचना मिलने पर पहुंचे अधिकारी मामले की जांच कर रहे है। विगत चार माह पूर्व भी हसनगंज में ट्रिपल मर्डर कर बदमाशों ने पचास लाख रुपये लूटकर फरार हो गये थे। इस मामले का पर्दाफाश अभी तक नहीं हो पाया है। लगातार दो स्थानों पर घटना होने से एक बार फिर अपराधियों ने पुलिस को चुनौती दे दी है।
आलमबाग स्थित चंदननगर चौराहे पर वहीं के रहने वाले नासिर अपने भाईयों नफीस, सकील, रईस व रहमान के साथ रहते हैं। बताया गया कि नासिर का इसी चौराहे पर पुश्तैनी मकान है और सभी भाई इसी मकान में दुकान भी खोल रखे है। नासिर के मुताबिक पास में रहने वाले एक बृजेंद्र नाम के शख्स का कहना है कि उक्त मकान उसका है। जबकि नासिर का कहना है कि यह मकान उनका पुश्तैनी है। बताया गया कि इससे पहले भी कई बार उक्त शख्स अपने अन्य साथियों के साथ उन्हें व परिवार के लोगों को जान से मारने की धमकी दे चुका है। सोमवार दोपहर करीब दो बजे चंदननगर स्थित गली में अचानक एक लाल बत्ती लगी स्कार्पियों समेत पांच-छह कार सवार बदमाश पहुंचे और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। सरेआम गली और बीच सडक़ पर गोलियों की तड़तड़ाहट से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। इस दौरान नासिर की दुकान पर काम करने वाले रियाज, आसिफ व गुल्लू को गोली लग गई, जिससे व बुरी तहर से जख्मी हो गये। वारदात को अंजाम देकर अन्य हमलवार मौके से रिज्ड कार यूपी सी वी. 2223 मौके पर छोडक़र भाग निकले, जबकि एक सचिन यादव नाम के शख्स को लोगों ने दौड़ा कर पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई की। इसके बाद दुकानदार नासिर की मदद में व्यापारियों व स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और कार में तोडफोड़ कर सडक़ पर रोडवेज बस खड़ी कर दोनों ओर से जाम लगाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। सूचना मिलते ही एएसपी पूर्वी रोहित मिश्र भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और नाराज प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास कियाए लेकिन वह हमलावरों को गिरफ्तार किये जाने को लेकर अड़े रहे। एएसपी पूर्वी रोहित मिश्र का कहना है कि छानबीन में जमीन की कब्जेदारी को लेकर मामला सामने आया है और एक हमलावर को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। तनाव को देखते हुए वहां पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इस मामले में लगभग तीस लोगों के खिलाफ गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। वहीं दूसरी तरफ सरोजनीनगर में साउथ सिटी कालोनी स्थित चेकमैट सेक्योरिटी सर्विस की कैश वैन यूपी 32डीएन 6676 का चालक कृपाशंकर यादव सोमवार की दोपहर करीब पौने तीन बजे ट्रासपोर्ट नगर स्थित एक निजी कोरियर कम्पनी से लगभग सात लाख रुपये लेकर
रायबरेली रोड की तरफ जा रहा था। इस दौरान कैश वैन में चालक कृपाशंकर के साथ कम्पनी का कलेक्शन एजेंट हरदोई में रहने वाला अमरीश सिंह व बाराबंकी के हैदरगढ़ निवासी गन मैन राजाराम पाण्डेय मौजूद था। चालक कृपाशंकर ने शहीद पथ स्थित न्यू गुड़ौरा पुल के पास स्पेड ब्रेकर होने के चलते वैन की गति धीमी की। इसी दौरान पुल के नीचे खड़े नकाबपोश बदमाशों ने सामने से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इसी दौरान हेलमेट लगाये एक अन्य बदमाश ने वैने की बाई खिडक़ी की तरफ से फायर करना शुरू कर दिया। इस वारदात में कृपाशंकर के कंधे, कम्पनी के एजेन्ट अमरीश के पेट व गार्ड राजाराम पाण्डेय के सीने में गोली लग गई, जिससे तीनों लहूलुहान होकर गिर पड़े। इनके गिरते ही तीनों बदमाश वैन में रखा हुआ कैश बैग लेकर काले रंग की अपाची बाइक से रायबरेली रोड की तरफ भाग निकले। घटना की सूचना मिलते ही आशियाना व सरोजनीनगर पुलिस मौके पर पहुंची और सभी को उपचार के लिए ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया, जहां कलेक्शन एजेंट की मौत हो गई जबकि गार्ड और चालक की हालत गम्भीर बताई जा रही है। कम्पनी के मैनेजर विजय बहादुर सिंह का कहना है कि घटना के दौरान वैन में तकरीबन 20 लाख रुपये की नकदी थी। जबकि पुलिस सात लाख रुपये की पुष्टि कर रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक घटना में प्रयुक्त अपाची बाइक यूपी-78डीडी- रायबरेली रोड पर तेलीबाग तक देखी गई।

Pin It