कलेक्ट्रेट में गोली चलाने के मामले में रिवाल्वर सीज

डीएम के आदेश पर लाइसेंस के निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया शुरू

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। जिलाधिकारी राजशेखर ने कलेक्ट्रेट कैंपस में गोली चलने के मामले को गंभीरता से लेकर रिवाल्वर सीज करने का आदेश दे दिया है। इसके साथ ही सिटी मैजिस्ट्रेट और सीओ कैसरबाग को मामले की जांच सौंप दी है। डीएम ने रिवाल्वर का लाइसेंस निरस्त करने का आदेश भी दिया है। लाइसेंस निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है।
कलेक्ट्रेट परिसर में सीओ महानगर के मुंशी उमेश प्रसाद बुधवार की शाम को करीब सवा पांच बजे सिटी मैजिस्ट्रेट के कार्यालय में रिवॉल्वर का लाइसेंस रजिस्टर कराने आए थे। वह रिवॉल्वर लेकर सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय के क्लर्क रवीश कुमार पांडे के पास पंजीकरण करवाने पहुंचे। रिवॉल्वर लोडेड देखकर रवीश कुमार ने मुंशी को रिवाल्वर खाली करने के लिए कहा। मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक इसके तुरंत बाद उमेश प्रसाद सिटी मैजिस्ट्रेट कार्यालय से बाहर आए और अपने सहयोगी युवक को लोडेड रिवॉल्वर थमाते हुए खाली करने को कहा। रिवाल्वर खाली करने के दौरान ही फायर हो गया। जिस युवक से गोली चली थी, वह फायर होते ही वहां से खिसक गया। गोली की आवाज सुनते ही सिटी मैजिस्ट्रेट विनोद कुमार, सीओ कैसरबाग, एएसपी रमेश भरतिया, इंस्पेक्टर कैसरबाग महंत यादव समेत कई पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए । इसके तुरंत बाद रिवाल्वर को कब्जे में ले लिया गया। इस मामले की सूचना मिलते ही डीएम राजशेखर ने मामले की जांच करने का आदेश दे दिया है। डीएम के मुताबिक रिवाल्वर से फायर होने के दौरान कोई भी हताहत नहीं हुआ है। इस मामले में एफआईआर दर्ज करने, लाइसेंस सीज करने, असलहा जब्त करने और जल्द से जल्द लाइसेंस निरस्त करने का आदेश दिया गया है।

Pin It