कलाकारों का हो सम्मान

दुनिया में अधिकांश देश कलाकारों और खिलाडिय़ों के लिए अपने नियम-कानून ताक पर रख देते हैं लेकिन पाकिस्तान में ऐसा नहीं है। कल अनुपम खेर ने ट्वीट कर जानकारी दी कि पाकिस्तान ने उन्हें वीजा नहीं दिया। पाकिस्तान के कराची में साहित्य सम्मेलन में अनुपम खेर को शिरकत करनी थी।

sanjay sharma editor5कहा जाता है कि पक्षियों और कलाकारों के लिए कोई सीमा नहीं होती है। उनके लिए हर मुल्क के दरवाजे खुले होते हैं। कलाकारों के प्रति लोगों का सम्मान ही है कि भारत के कई कलाकार हॉलीवुड में काम कर रहे हैं। इसी तरह पाकिस्तान के कई कलाकार भारत में काम कर रहे हैं। भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कितने तल्ख हैं इससे पूरी दुनिया वाकिफ है, फिर भी कलाकारों के लिए भारत ने अपने दरवाजे कभी बंद नहीं किए। इतना ही नहीं भारतीय दर्शक पाकिस्तानी कलाकारों को उतना ही प्यार और सम्मान देते हैं जितना वो भारतीय कलाकारों को देते हैं। कलाकार की पहचान किसी देश से नहीं बल्कि उसकी कला से होती है और वह आजीवन अपनी कला की वजह से ही जाना जाता है।
दुनिया में अधिकांश देश कलाकारों और खिलाडिय़ों के लिए अपने नियम-कानून ताक पर रख देते हैं लेकिन पाकिस्तान में ऐसा नहीं है। कल अनुपम खेर ने ट्वीट कर जानकारी दी कि पाकिस्तान ने उन्हें वीजा नहीं दिया। पाकिस्तान के कराची में साहित्य सम्मेलन में अनुपम खेर को शिरकत करनी थी। इसके लिए भारत से 18 लोगों ने वीजा दिया था लेकिन 17 लोगों को वीजा दे दिया गया और अनुपम खेर को नहीं दी गई। अनुपम ने वीजा न मिलने पर हैरानी जाहिर की। उनका कहना भी सही है। भारत में पाकिस्तानी कलाकारों को कितना मान-सम्मान दिया जाता है। इतना ही नहीं भारत सरकार ने मशहूर गायक अदनान सामी को भारत की नागरिकता तक दे दी। अनुपम खेर ने कहा ‘हम उनके कलाकारों का भारत में स्वागत करते हैं। अगर भारत में एक जगह पर उनकी प्रस्तुति पर आपत्तियां होती हैं तो दूसरे जगह उनका स्वागत होता है। लेकिन यह पारस्परिक नहीं है।’ वीजा नहीं दिये जाने के मुद्दे पर खेर ने कहा ‘काश मैं जान पाता। मैं सोच रहा हूं कि क्या यह मेरे कश्मीरी पंडित होने या भारत में सहिष्णुता पर बहस में मेरे विचारों के कारण हुआ है।’ यदि पाकिस्तान की तरफ से जानबूझकर ऐसा किया गया है तो यह गलत है। अनुपम खेर भारत के जाने-माने कलाकार हैं। उनके साथ इस तरह से बर्ताव जायज नहीं है। जब भारत पाकिस्तानी कलाकारों के साथ इतनी संजीदगी के साथ पेश आता है तो पाकिस्तान को भी दरियादिली दिखानी चाहिए। वैसे पाकिस्तान से इस तरह की उम्मीद करना बेमानी होगा, क्योंकि पाकिस्तान तो हर पल भारत को अस्थिर करने के प्रयास में लगा रहता है। उसे तो बस मौके की तलाश रहती है।

Pin It