कर अधीक्षक पर हमला करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। ठाकुरगंज घास मंडी में अतिक्रमण हटवाने पहुंचे कर अधीक्षक पर हमला करने वाले व्यापारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है। इसके साथ ही अतिक्रमण हटवाने के दौरान पुलिस बल को सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है।
नगर निगम जोन छह के अंतर्गत घास मंडी तिराहे पर मंगलवार को नगर निगम के अधिकारी, प्रशासनिक अधिकारी और स्थानीय पुलिस की टीम अतिक्रमण हटवाने पहुंची। इस दस्ते ने घंटे वाली पूड़ी की दुकान, मुश्ताक बिरयानी कार्नर, अफसाने आलिया मजार के पास अतिक्रमण हटवाया गया। इस कार्रवाई के खिलाफ 200 से ज्यादा लोग इकट्ठा हो गये। इन लोगों ने कर अधीक्षक और अन्य कर्मचारियों पर पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद भगदड़ शुरू हो गई। दुकानदारों ने जोन छह के कर अधीक्षक राजेन्द्र कुमार को घेर लिया और बुरी तरह पीटा। इस दौरान पुलिस की टीम नगर निगम के दस्ते को बचाने और उग्र दुकानदारों को शांत कराने की बजाय भागती नजर आई। इसके दुकानदारों के हौसले बुलंद हो गये। दुकानदारों ने नगर निगम के दस्ते में शामिल लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। भीड़ ने राहगीरों और गाडिय़ों को भी नहीं छोड़ा, रास्ते से गुजरने वाले लोगों को भी बुरी तरह पीटा और आटो एवं रिक् शा में तोडफ़ोड़ की। इससे पूरे इलाके में दहशत फैल गई। इस घटना के संबंध में कंट्रोल रूम में फोन करके जानकारी दी गई। लेकिन पुलिस की टीम हंगामा होने तक नजर नहीं आई। जब सब कुछ शांत हो गया तो पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और लाठियां फटकार कर अपनी बहादुरी पेश करने लगी।

मौके पर साथ नहीं देती पुलिस
नगर निगम की तरफ से अतिक्रमण हटाने घसियारी मंडी पहुंचे दस्ते को पुलिस कर्मियों ने पहली बार दगा नहीं दिया है। इससे पहले भी कई बार अतिक्रमण हटवाने पहुंचे नगर निगम कर्मियों को पिटते छोडक़र पुलिस कर्मी भाग चुके हैं। अमीनाबाद, चिनहट, पॉलीटेक्निक, इन्दिरा नगर, भूतनाथ मार्केट समेत कई स्थानों पर अतिक्रमण हटवाने पहुंचे नगर निगम के कर्मचारियों को दुकानदारों के गुस्से का शिकार होना पड़ा है। हर बार अतिक्रमण दस्ते के साथ पहुंचे पुलिस कर्मी अपनी जान बचाकर भाग निकलते हैं।

Pin It