कर्मचारियों को मजा, लोगों को सजा

केजीएमयू के ब्लड बैंक का हाल,नहीं दिया जा रहा है ध्यान

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केजीएमयू के ब्लड बैंक में पिछले कई दिनों से एसी खराब पड़े हैं जिससे ब्लड बैंक में रक्त संबंधी जरूरत के लिए आये लोगों को भीषण गर्मी में समय गुजारना पड़ रहा है। राजधानी में तापमान करीब 45 डिग्री के ऊपर पहुंच गया है जिससे ब्लड बैंक में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दूसरी चौंकाने वाली बात ये है कि ब्लड बैंक में कर्मचारियों के केबिन में एसी चल रहा है। इससे पता चलता है कि आम लोगों की समस्या पर जानबूझकर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
ब्लड बैंक स्थित हाल में करीब 5 एसी लगे हुये हैं जिसमें सारे एसी खराब होने की बात कही जा रही है। ऐसी गैरजिम्मेदारी से रक्तदाताओं के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। करीब 45 डिग्री सेल्सियस तापमान से रक्तदाता अंदर घुसता है। जिसके चलते अंदर भी उसे गर्मी में रहना पड़ता है। जिसके बाद उसे रक्तदान के लिए ले जाया जाता है। रक्तदान कक्ष में एसी लगी होने से एकदम से उसके शरीर का तापमान कम पड़ता है। जानकारों के मुताबिक यह स्थिति रक्तदाता के शरीर के लिए खतरनाक हो सकती है। सबसे शर्म की बात यह है कि कर्मचारियों के केबिन में एसी चल रहा है जबकि बेचारे आम लोगों को गर्मी के बीच समय काटना पड़ता है। बताते चलें कि रक्त की आपूर्ति में करीब डेढ़ घंटे का समय लगता है।
इसके आलावा ब्लड बैंक में भी महंगाई का असर है। कारण पहले रक्तदाताओं को रक्तदान के बाद मैंगो फ्रूटी या जूस पिलाया जाता था लेकिन अब चाय और बिस्कुट से काम चलाया जा रहा है। गोरखपुर के रहने वाले शिवशंकर ने रक्तदान किया है। शिवशंकर का कहना है कि रक्तदान के बाद चाय और बिस्किट दिया गया। केजीएमयू के ब्लड बैंक का एसी अक्सर खराब रहती है। बीते दिन लोहिया अस्पताल में ब्लड बैंक में एसी खराब होने से हडक़ंप मच गया था। जानकारों के मुताबिक ब्लड बैंक में एसी खराब होना छोटी समस्या नहीं है। इससे रक्तदान करने आये लोगों के शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ता है।
ब्लड बैंक में काफी पुराने एसी लगे हैं। वह अक्सर खराब हो जाते हैं। समस्या को गंभीरता से लेते हुए जल्द से जल्द एसी रिपेयर कराये जायेंगे।
-तूलिका चंद्रा
ब्लड बैंक प्रभारी
गर्मी से बैठना मुश्किल हो रहा है एक ही पंखा लगा है अक्सर एसी यहां खराब रहते हैं। जिससे काफी परेशानी होती है।
-भूपेन्द्र
सीतापुर

Pin It