करोड़ों रुपये का कर्जदार है नगर निगम, ठेकेदार लगा रहे चक्कर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

Captureलखनऊ। नगर निगम के पास विकास कार्यों के एवज में भुगतान करने के लिए बजट का अकाल पड़ गया है। आय से अधिक खर्च कर रहे निगम पर ठेकेदारों की 100 करोड़ रुपये की देनदारी बाकी है। लंबे समय से इंतजार कर रहे ठेकेदार अब वित्त अधिकारी व अपर नगर आयुक्त का घेराव कर रहे हैं।
ठेकेदारों का कहना है कि काम के बाद कार्य के पैसे का भुगतान भी समय पर होना चाहिए। इसके बाद ही आगे के काम कराये जा सकते हैं। ऐसे में अपर नगर आयुक्त अवनीश सक्सेना ने गैर जरूरी फाइलों को पास करने पर अस्थाई रोक लगा दी है। वित्त अधिकारी से कहा गया है कि फाइल पास करने से पहले उपयोगिता और बजट की उपलब्धता देखकर ही कार्य स्वीकृत करें। अधिकारियों के अनुसार गैर जरूरी खर्च को सीमित किया जा रहा है। इसमें आर आर विभाग से लेकर मार्ग प्रकाश व निर्माण विभाग को भी निर्देश दे दिया गया है। हमारी कोशिश है कि निगम की माली हालत ठीक हो सके। इसके लिए मुख्य श्रोत संपत्ति कर संग्रह पर जोर देकर दूसरे श्रोतों से भी धन जुटाया जाएगा।

Pin It