कमीशन को लेकर आपस में भिड़े चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी

  • फाइल आगे बढ़ाने के लिए चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को दिए जाते हैं पैसे

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शिक्षा का मन्दिर कहे जाने वाले शिक्षा विभाग में शुक्रवार को अखाड़े जैसा ही नजारा देखने को मिला, जहां दो चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी आपस में ही भिड़ गए। दोनों के बीच जमकर गाली-गलौज हुई। यहां तक की मारपीट की नौबत आ गई। इस दौरान दूसरे कर्मचारियों ने बीच बचाव कर मामला शांत कराया।
देर तक चले इस झगड़े को निपटाने पहुंचे लोगों ने मामला शांत कराने के लिए मामला जानने की कोशिश की तो दोनों ने ही बताने से इनकार कर दिया और फिर से झगड़ा शुरू कर दिया। झगड़ा करने वाले के एक साथी ने इस बात का खुलासा किया कि टीसी (ट्रांसफर सर्टिफिकेट) के कमीशन को लेकर दोनों के बीच विवाद हो रहा है। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में ही सह जिला विद्यालय निरीक्षक आंग्ल भाषा का भी कार्यालय है। स्कूलों की मान्यता के लिए यहां रोजाना दर्जनों स्कूलों की टीसी काउंटर साइन के लिए आती हैं। स्कूल संचालक यहां तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को कुछ सुविधा शुल्क देकर काउंटर साइन के लिए टीसी सौंप देते हैं। शुक्रवार को भी ऐसा कुछ ही हुआ। जानकारों के मुताबिक यहां कर्मचारी संजय और निजामुद्दीन तैनात हैं। एक स्कूल संचालक ने अपनी टीसी काउंटर साइन के लिए निजामुद्दीन को दे दी। जब दूसरे कर्मचारी संजय से किसी बात को लेकर निजामुद्दीन से कहासुनी होने लगी, तो दोनों आपस में भिड़ गए और जमकर गाली-गलौज की। कर्मचारी संजय नाका स्थित महाराजा अग्रसेन इंटर कॉलेज से यहां अटैच बताया जा रहा है। डीआईओएस के कमरे के बाहर दोनों कर्मचारियों के बीच हंगामा और गाली-गलौज सुन कर दूसरे कर्मचारी बीच-बचाव के लिए दौड़े। इसके बाद भी दोनों कर्मचारी नहीं माने।

Pin It