कभी था गुलजार, अब बेरौनक

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। महानगर के गोल मार्केट का नाम लेते ही मन में एक साफ सुथरी मार्केट की सुरत बन जाती है। मार्केट के दुकानदारों व ग्राहकों की सुविधा के लिये नगर निगम ने जो अंडरग्राउण्ड पार्किंग की व्यवस्था कर रखी है वह मार्केट के सामने ही बनी है। लेकिन मार्केट में आने वाले ग्राहक अपने कुछ पैसों को बचाने के लिये सडक़ों के किनारे गाडिय़ां खड़ी कर देते हैं। जिस कारण सडक़ों पर आने जाने वाले राहगीरों को काफी मशक्कतों का सामना करना पड़ता है। गाडिय़ों को खड़े करने वाले लोग शायद यह नहीं जानते कि उनके इस कारनामें से जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है।
मार्केट के व्यापारी नेता महानगर व्यापार मण्डल के महासचिव कन्हैया लाल वर्मा ने बताया कि कुछ समय पहले मार्केट में आने वाले ग्राहकों का एक बड़ा हुजुम लगता था। लेकिन फिलहाल के हालात यह हैं कि मार्केट में आने वाले ग्राहकों की संख्या में भारी कमी आयी है।
कार्रवाई नहीं जुर्माना
व्यापारी नेता व कन्हैया लाला वर्मा व ज्वेलरी व्यापारी बद्री सर्राफ के मालिक पुष्कर केसरवानी ने बताया कि मार्केट के पीछले भाग पर गन्दगी का एक बड़ा अम्बार लगा रहता है। साथ ही यहां पर हमेशा पानी जमा रहता है जिस कराण से कूडा सड़ जाता है और दुर्गन्ध आने लगती है। जिस कारण से यहां पर बैठना दुर्लभ हो जाता है। उन्होंने यह भी बताया कि कई बार नगर निगम से कहने के बाद भी सफाई नहीं हुई और तो और गन्दगी करने के लिये हम लोगों पर फाइन भी लगा दिया।
गंदगी के कारण बीमारी का डर
महानगर व्यापार मण्डल के अध्यक्ष उमेश चन्द्र गुप्ता ने बताया कि इस मार्केट में बुधवार को साप्ताहिक मार्केट लगने के अगले दिन सडक़ों के किनारे पर कूडों का एक बड़ा अम्बार लग जाता है साथ ही उनका कहना है कि सफाई कर्मचारी दो से तीन सप्ताह में एक बार आते हैं जिस कारण से सडक़ पर गन्दगी का एक बड़ा हिस्सा जमा हो जाता है। साथ ही यह भी बताया कि कुडा उठाने वाली गाड़ी भी महीने में एक ही बार आती है जिस कारण से कुडे के ढेर से बदबू आने लगती है और इस कारण बीमारी को लेकर लोगों के मन में डर बना रहता है। इस समस्या को कई बार यहां के नेताओं को भी बतया गया लेकिन फिर भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पायी है।
शाम को पार्क में लगता है नशेबाजो का हुजूम
व्यापारी नेता कन्हैया लाल वर्मा ने बताया कि यहां पर शाम के समय सामने बने पार्क में शराब पीने वाले लोगों का एक बड़ा गुट जमा हो जा है। उनका कहना है कि यहां पर मार्केट के पास में ही एक शराब की दुाकान है जिस कारण से शराब पीने वाले शराब लेकर पार्क में चले जाते हैं और वहां पर एकान्त पाकर शराब पीते हैं। जिस कारण से आने जाने वाले लोगो के मन में अपनी सुरक्षा को लेकर एक भय बना रहता है।

 

Pin It