कन्हैया की गिरफ्तारी राजनीतिक षड्यंत्र: मायावती

केन्द्र सरकार जेएनयू को बर्बाद करने पर तुली

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। जेएनयू मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जेएनयू यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को देशद्रोह की धारा के तहत गिरफ्तार करना राजनीतिक षडय़ंत्र है। जेएनयू जैसी उच्च शिक्षण संस्थान को इस प्रकार से देशद्रोह संस्थान बताकर उसे बदनाम करना अत्यन्त ही दुखद व निंदनीय है।
मायावती ने एक बयान जारी करते हुये कहा कि जेएनयू मामले में केंद्र सरकार पूरे संस्थान को ही बर्बाद करने पर तुली हुई लगती है। केंद्र सरकार का ये कदम खुद अपने पांव पर ही कुल्हाड़ी मारने जैसा है। जिस तरह इस मामले में सरकार के विवादित बयान सामने आ रहे हैं। उससे साफ जाहिर हो रहा है कि कहीं न कहीं कोई राजनीतिक खेल चल रहा है। सरकारी मशीनरी का गलत इस्तेमाल करके विरोधी आवाज को कुचलने की कोशिश हो रही है। माया ने कहा कि हैदराबाद यूनिवर्सिटी से लेकर जेएनयू तक के मामले में जिस तरह से केंद्रीय मंत्री नेगेटिव भूमिका निभा रहे हैं, ये एक खराब ट्रेंड है। एक तरफ तो केंद्र सरकार जेएनयू के लोगों पर अफजल गुरु को ‘शहीद’ बताने और उसके लिए कार्यक्रम आयोजित करने पर ‘देशद्रोही’ बताकर उन्हें गिरफ्तार कर रही है। दूसरी तरफ बीजेपी जम्मू-कश्मीर में उस पीडीपी पार्टी के साथ फिर से सरकार बनाने में जी-जान से लगी है, जिसने अफजल गुरु को शहीद बताया और उसको फांसी दिये जाने का भी विरोध भी किया। बीजेपी बताए कि ये उसकी कैसी देशभक्ति है?

Pin It