कन्नौज में विश्वस्तरीय परफ्यूम पार्क बनाएगी सरकार: आलोक रंजन

सीएम के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन कन्नौज के इत्र को दुनिया भर में ब्रांड बनाने के लिये अफसरों की टीम के साथ फ्रांस गये थे। वहां उन्होंने इस इत्र को विश्वस्तर पर स्थापित करने और इसके लिए कारीगरों को बड़े पैमाने पर प्रशिक्षण देने की संभावनाओं पर विचार किया। जल्दी ही कन्नौज में दुनिया भर के लोगों को आकर्षित करने के लिये एक बड़ा पार्क बनाया जायेगा। फ्रांस से लौट कर उन्होंने 4पीएम के संपादक संजय शर्मा को इस योजना के विषय में विस्तार से बताया।

  • फ्रांस के ग्रास शहर में परफ्यूम के डिजायन और टेक्नॉलजी का प्रशिक्षण लेने जाएगी 20 सदस्यीय टीम

30 JULY PAGE11लखनऊ। प्रदेश सरकार कन्नौज में विश्व स्तरीय परफ्यूम पार्क डेवलप करने की दिशा में जोर-शोर से काम कर रही है। इस पार्क के लिए प्रस्ताव बनकर तैयार हो चुका है। कन्नौज में जमीन अधिग्रहण का कार्य शुरू कर दिया गया है। अब तक 40 एकड़ जमीन अधिग्रहीत भी की जा चुकी है। अब विश्वस्तरीय मानकों के अनुसार परफ्यूम बनाने और उसकी मार्केट तैयार करने के लिए टीम को प्रशिक्षण के लिए फ्रांस भेजने की तैयारी चल रही है। इसका मकसद यूपी में इत्र का बड़ा बाजार तैयार करना है।
मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन ने बताया कि हमने फ्रांस की यात्रा के दौरान इत्र के कारोबारी की बारीकियों को समझा और महसूस किया कि कन्नौज के इत्र को दुनियां का बड़ा ब्रांड बनाया जा सकता है। इसलिए कन्नौज में परफ्यूम पार्क बनाने का फैसला किया। इसके लिए काम बहुत ही तेजी से चल रहा है। इसके लिए यूपीएसआईडीसी की टीम तन्मयता से काम कर रही है। पार्क बनाने के लिए करीब 40 एकड़ जमीन मिल चुकी है। सरकार का प्रयास 100 एकड़ जमीन अधिग्रहीत कर विश्वस्तरीय परफ्यूम पार्क डेवलप करना है। इस पार्क का डिजायन और आर्टीटेक्ट तैयार करने की प्रक्रिया चल रही है। प्रदेश सरकार बहुत जल्द परफ्यूम के व्यसाय से जुड़े विशेषज्ञों की 20 सदस्यीय टीम को फ्रांस के ग्रास शहर में प्रशिक्षण के लिए भेजेगी। इसमें ज्यादातर कन्नौज के लोग शामिल रहेंगे। इस टीम को अगस्त के आखिर तक फ्रांस भेज दिया जाएगा। टीम के सदस्य फ्रांस में परफ्यूम पार्क की डिजायन के लिए वहां के आर्कीटेक्ट के साथ मीटिंग करेंगे। इसके अलावा परफ्यूम पार्क, परफ्यूम बनाने से जुड़े अंतरराष्ट्रीय मानकों और पूरी टेक्नोलॉजी पर विशेषज्ञों के साथ मीटिंग में र्चा करेंगे। सरकार का प्रयास परफ्यूम पार्क का बेहतरीन डिजायन तैयार कराना है। ताकि परफ्यूम इंडस्ट्री से जुड़े हुए बड़े-बड़े उद्योगपति कन्नौज के पार्क में अपने उद्योग लगायें। इससे कन्नौज के लोगों का विकास करने में सहयोग मिलेगा। श्री रंजन ने बताया कि कन्नौज में गुलाब और अन्य फूलों की खेती भी करवाई जाएगी, ताकी परफ्यूम बनाने के लिए उद्योगपतियों को फूल आसानी से मिल सकें।

यूपी में तैयार होगा इत्र का बाजार

आलोक रंजन के मुताबिक यूपीएसआई डीसी की टीम ने परफ्यूम पार्क में म्यूजियम बनाने का भी प्रस्ताव तैयार किया है। जहां आने वाले लोगों को कन्नौज के इतिहास के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाएगी। सरकार का प्रयास यूपी में इत्र का बाजार तैयार करना है। सरकार की तरफ से कन्नौज में तैयार इत्र की विश्व स्तर पर मार्केटिंग कराने का प्रयास किया जाएगा। इससे यूपी में इत्र के बाजार को व्यापक स्तर पर प्रसारित करने का काम भी किया जाएगा।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बने डीबी भोसले

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क


लखनऊ। जस्टिस दिलीप बाबा साहेब भोसले (डी.बी.भोसले) इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बन गए हैं। राज्यपाल राम नाईक ने आज सुबह उन्हें शपथ दिलाई।

जस्टिस डी.वाई चंद्रचूड़ को सुप्रीम कोर्ट का जज बनने के बाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को लेकर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं। जस्टिस वी.के शुक्ला एक्टिंग चीफ जस्टिस के रूप में यह जिम्मेदारी संभाल रहे थे। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सिफारिश पर इस पद के लिए जस्टिस डी.बी भोसले के नाम पर मुहर लगा दी। वे आंध्र प्रदेश और तेलंगाना हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस थे। गौरतलब है कि डीबी भोसले महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री बाबासाहब भोसले के बेटे हैं। उन्होंने अपना करियर जून 1979 में मुंबई हाईकोर्ट में बतौर एडवोकेट शुरू किया था। 22 जनवरी 2001 को महाराष्ट्र हाईकोर्ट में उन्हें अतिरिक्त न्यायाधीश अप्वाइंट किया गया। देश के किसी भी स्टेट बार काउंसिल में सबसे कम उम्र का सदस्य होने का उन्हें गौरव हासिल है। मुख्य न्यायाधीश के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्य सचिव दीपक सिंघल भी उपस्थित रहे। इसके अलावा हाईकोर्ट के सभी न्यायाधीश, अधिकारी, अधिवक्ता और कर्मचारी भी मौजूद रहे।

हरक सिंह रावत के खिलाफ रेप के मामले में एफआईआर दर्ज

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क


लखनऊ। बीजेपी नेता हरक सिंह रावत पर दिल्ली की एक महिला ने रेप की कोशिश का मामला दर्ज कराया है। बताया जा रहा है कि मामला सफदरजंग थाने में दर्ज किया गया है। हाई प्रोफाइल केस होने की वजह से पुलिस मामले में फूंक-फूंक कर कदम आगे बढ़ा रही है।

हरक सिंह रावत का विवादों से पुराना नाता रहा है। दो साल पहले उन पर असम की एक महिला ने उत्तराखंड में छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। इस मामले की जांच अभी भी चल रही है। लेकिन सफदरजंग थाने में मामला दर्ज होने की वजह से हरक सिंह रावत की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। गौरतलब है कि उत्तराखंड में हरीश रावत की सरकार को झटका देने वाले नौ बागी विधायकों में हरक सिंह रावत भी शामिल थे। उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत भाजपा और संघ से की थी। हरक सिंह 1993 में उत्तर प्रदेश की कल्याण सिंह सरकार में मंत्री थे। इसके बाद वह 1996 में भाजपा छोडक़र बसपा में शामिल हुए। फिर 2000 में उत्तराखंड राज्य बनने पर कांग्रेस में शामिल हो गए और नारायण दत्त तिवारी, विजय बहुगुणा और हरीश रावत मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री थे। हालांकि भाजपा का एक खेमा बागी कांग्रेसी नेताओं को भाजपा में शामिल करने का विरोध कर रहा था। इसके बावजूद उन्हें बीजेपी में शामिल कर लिया गया।

टी.वेकटेश ने संभाला कार्यभार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और लखनऊ के पूर्व कमिश्नर टी. वेंकटेश ने यूपी के नए मुख्य निर्वाचन अधिकारी का पदभार ग्रहण कर लिया। उन्होंने आज दोपहर 12:30 बजे जनपथ सचिवालय पहुंचकर तमाम औपचारिकताओं को पूरा किया। इस दौरान निर्वाचन कार्यालय के तमाम अधिकारी और कर्मचारी भी मौजूद रहे।
टी.वेंकटेश ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी का पदभार ग्रहण करने के बाद बताया कि उनको निर्वाचन आयोग और सरकार की तरफ से बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। यूपी में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर सारी तैयारियों को समय से पूरा करवाने का प्रयास किया जाएगा। उनका लक्ष्य विधानसभा चुनाव को पारदर्शी और शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराना होगा। इसके लिए मतदाता सूचियों का प्रकाशन, मतदाता सूची में दर्ज फर्जी नामों में संशोधन समेत अन्य आवश्यक कार्यों को तय समय पर पूरा करवाया जाएगा। इसके लिए सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।

Pin It