ऑनलाइन वेरीफाई होंगे सीटीईटी के सर्टिफिकेट

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पिछले साल शिक्षकों की भर्ती को लेकर वेरीफिकेशन के लिए आई मार्कशीट के फर्जी होने के कई मामले सामने आए थे। ऐसे मामलों को देखते हुए वेरीफिकेशन प्रक्रिया कड़ी कर दी गई है। यह प्रक्रिया इतनी जटिल थी कि कई शिक्षकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब शिक्षक भर्ती के लिए आने वाले डॉक्यूमेंट्स का वेरीफिकेशन जल्द से जल्द निपटाया जाएगा, इसके लिए सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन सीबीएसई बोर्ड ने एक डिवाइस तैयार की है, जिसके जरिए एक क्लिक पर मार्कशीट का वेरीफिकेशन हो जाएगा।
सीबीएसई बोर्ड इसके तहत सीटीईटी के डॉक्यूमेंट का ऑनलाइन वेरीफिकेशन की प्रक्रिया शुरू करेगी। इस व्यवस्था से स्कूल प्रबंधन भर्ती के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार का सारा जांच का रिकॉर्ड देख सकेंगे। मौजूदा व्यवस्था के अनुसार सीटीईटी परीक्षा पास करने के बाद सीबीएसई की ओर से प्रपत्र जारी किया जाता है। यदि कैंडीडेट्स यह प्रमाण पत्र कहीं शिक्षक भर्ती में लगाता है तो नियुक्ति प्राधिकारी यह डॉक्यूमेंट के वेरीफि केशन के लिए बोर्ड को मैनुअल भेजता है, जिससे देरी होती है। लेकिन अब इसका वेरीफि केशन ऑनलाइन किया जाएगा।

जल्द ही शुरू होगी प्रणाली
सीबीएसई सीटीईटी के इस डॉक्यूमेंट के ऑनलाइन वेरीफिकेशन की शुरुआत फ रवरी के बाद जारी होने वाले कागजातों पर लागू करने की तैयारी में है। इस सुविधा का लाभ शैक्षणिक संस्थानों के साथ-साथ भर्ती एजेंसी भी ले सकती है। मैन्युअल वेरीफिकेशन की सुविधा सिर्फ फ रवरी 2015 से पहले जारी होने वाले डाक्यूमेंटस पर ही लागू होगी।

ऐसी होगी प्रक्रिया
शैक्षणिक संस्थानों को अपने यहां शिक्षकों की भर्ती के लिए सीटीईटी प्रमाण पत्र के जांच के लिए मोबाइल पर क्यूआर कोड स्कैनर, एप्लीकेशन को डाउनलोड करना होगा। इसके बाद प्रमाण पत्र पर मौजूद क्यूआर कोड को स्कैन किया जाएगा। इस कोड को स्कैन करने के बाद एक लिंक उपलब्ध होगा जिस पर क्लिक करने पर कागजातों की जानकारी देखी जा सकेगी।

हर प्रपत्रों पर होगा क्यूआर कोड
सीबीएसई ने इस डॉक्यूमेंट्स को भी हाईटेक बनाने का निर्णय लिया है। अब इस कागजातों के एक कोने के शीर्ष पर एक ग्लोबल डॉक्यूमेंट टाइप आइडेंटीफायर के रूप में जीएस वन क्यूआर कोड प्रिंट होगा। इस जीएस वन क्यूआर का कागजातों पर होने से यह लाभ होगा कि जब इसे मोबाइल क्यू.आर कोड स्कैनर से स्कैन किया जाएगा। वैसे ही इस प्रमाण पत्र से संबंधित जानकारी उपलब्ध हो जाएगी। सीबीएसई अधिकारियों के मुताबिक इस क्यूआर कोड को स्कैन करते ही प्रमाण पत्र पर उपलब्ध उम्मीदवार का नाम, फ ोटो, रोल नंबर, जारी करने की डेट, प्राप्त किए गए नम्बर का ब्यौरा मोबाइल पर उपलब्ध हो जाएगा।

Pin It