ऑनर किलिंग की घटना में युवती के पति को लिया रिमांड पर

लखनऊ। करीब एक माह पूर्व ऑनर किलिंग का शिकार हुए प्रेमी युगल के मामले में जेल में बन्द प्रेमिका के पति मंजेश को पुलिस ने रिमांड पर लाकर कड़ी पूछताछ की। जिसमें उसने घटना स्वीकारते हुए घटना में प्रयुक्त डंडें को बरामद कराया।

मलिहाबाद के ग्राम सिरगामऊ निवासी रामऔतार पाल की बेटी सरोज उर्फ बऊवा व इसी गांव के निवासी शुकुल के पुत्र सूरज का प्रेम-प्रसंग लम्बे समय से चल रहा था। युवती सरोज का विवाह परिजनों ने आनन-फानन में 2 वर्ष पूर्व सण्डीला थाना क्षेत्र के ग्राम ककरारी निवासी मंजेश के साथ कर दिया था। लेकिन दोनों का प्रेम-प्रसंग जारी रहा। सरोज अपनी ससुराल से 18 जुलाई को प्रेमी सूरज के साथ भाग निकली थी। इससे युवती के परिवार व ससुरालीजनों ने इनकी तलाश कर दोनों की हत्या कर शवों को ग्राम बंशीगढ़ी के जंगल मे फेंक दिया था। पुलिस ने सड़ी गली अवस्था में दोनों का शव 27 जुलाई को बरामद किया था। शव की शिनाख्त होने पर दूसरे दिन 28 जुलाई को पुलिस ने मलिहाबाद थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू की थी। जहां मृतका के पति मंजेश, चचिया ससुर राकेश, चचेरा भाई हिन्ना उर्फ सुनील व सगे भाई शिवकुमार एवं दिनेश उर्फ तिवारी के नाम प्रकाश में आये थे। पुलिस ने युवती के भाई शिवकुमार व दिनेश उर्फ तिवारी को 5 अगस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पति मंजेश न्यायालय में समर्पण कर जेल चला गया था। पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर मंजेश को शुक्रवार सुबह साढ़े नौ बजे रिमाण्ड पर जेल से थाने लायी। यहां पूछताछ में उसने घटना स्वीकारते हुए डंडें से पीटकर की गयी हत्या बताया। जिस पर पुलिस ने उसकी निशानदेही पर ग्राम बंशीगढ़ी जंगल से घटना में प्रयुक्त डंडा बरामद कर उसे दोपहर 12 बजे जेल वापस भेज दिया।

प्रवासी बंगीय समाज ने की शोकसभा
लखनऊ। देश के राष्टï्रपति प्रणब मुखर्जी की पत्नी के निधन पर शांति नगर स्थित आर.एन. भट्ïटाचार्या के निवास पर प्रवासी बंगीय समाज द्वारा शोक सभा का आयोजन किया। इस दौरान श्री भट्ïटाचार्या ने उनके जीवन पर प्रकाश डाला। शोकसभा में बंगीय समाज के सभी लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर भारत की प्रथम महिला शुभ्रा मुखर्जी को श्रद्धांजलि अर्पित की तथा तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उनकी आत्मा की शांत के लिये प्रार्थना की।

Pin It