एसिड अटैक पीडि़तों की मदद कर रही है सरकार: मुख्यमंत्री

‘शेरोज’ हैंग आउट के तहत रीडर्स कैफे, एक्टिविज्म वर्क शॉप, हैण्डीक्राफ्ट तथा प्रदर्शनी का किया जाता है संचालन

मुख्यमंत्री ने एसिड अटैक पीडि़तों द्वारा चलाए जा रहे ‘शेरोज’ हैंग आउट पहुंचकर की मुलाकात

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आगरा में एसिड अटैक पीडि़तों द्वारा चलाए जा रहे ‘शेरोज’ हैंग आउट पहुंचकर उनसे मुलाकात की। मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने इस हैंग आउट का अवलोकन किया और एसिड पीडि़तों के काम की प्रशंसा की। उन्होंने एसिड पीडि़तों को साहस पूर्वक कठिन परिस्थितियों से निपटने की सलाह दी।
उल्लेखनीय है कि ‘शेरोज’ हैंग आउट के तहत रीडर्स कैफे, एक्टिविज्म वर्क शॉप, हैण्डीक्राफ्ट तथा प्रदर्शनी इत्यादि का संचालन किया जाता है। इसके माध्यम से ये सभी अपने जीवन को सामान्य रूप से चलाने का प्रयास कर रही हैं। इन महिलाओं से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार एसिड अटैक पीडि़तों की पूरी मदद कर रही है। राज्य सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष के अंतर्गत रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार, एसिड अटैक पीडि़ताओं को आर्थिक सहायता के वितरण तथा महिला सम्मान कोष की वेबसाइट का शुभारम्भ इस वर्ष मार्च में किया जा चुका है। उनके इलाज के लिए जितनी भी धनराशि की आवश्यकता पड़ेगी, वह राज्य सरकार द्वारा खर्च की जाएगी। एसिड अटैक घटनाओं की भत्र्सना करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ऐसी घटनाओं के अपराधियों के विरुद्ध त्वरित गति से कड़ी कार्रवाई करेगी। उन्होंने सभ्य समाज में ऐसी घटनाओं को रोकने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि देश की 50 प्रतिशत आबादी महिलाओं की है, अत: महिलाओं के हितों की अनदेखी नहीं की जा सकती। एसिड अटैक पीडि़तों की दशा पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं सभ्य समाज के लिए कलंक हैं। श्री यादव ने कहा कि समाजवादी महिला सशक्तीकरण के पक्षधर हैं और इसीलिए वे महिलाओं की सुरक्षा एवं सम्मान के लिए लगातार कार्य करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा लागू की गई ‘1090’ विमेन पावर लाइन एक ऐसी ही सेवा है, जिसके माध्यम से सरकार महिलाओं को सुरक्षा प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि इस सेवा ने महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ाया है और अब केन्द्र सरकार भी इस सेवा को मॉडल मानते हुए पूरे देश में ऐसी ही सेवा लागू करने पर विचार कर रही है। इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चौधरी समेत अनेक लोग मौजूद थे।

Pin It