एसएसपी को चुनौती 12 घंटे में दो हत्यायें

हत्याओं से सहमी राजधानी

  • चिनहट में हिस्ट्रीशीटर के भाई को गोलियों से भूना तो कृष्णानगर में प्रॉपर्टी डीलर को सरेराह उड़ाया
  • अपराधी पुलिस की पकड़ से दूर, मुकदमा दर्ज

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एसएसपी राजेश पाण्डेय को राजधानी का जिम्मा संभाले 48 घंटे भी नहीं हुए राजधानी में विगत 12 घंटे के अंदर दो हत्याएं होने से दहशत है। चिनहट में जहां पुरानी रंजिश में हिस्ट्रीशीटर के भाई को गोलियों से भून डाला गया वहीं कृष्णानगर में सरेराह एक प्रॉपर्टी डीलर की हत्या कर दी गई। दोनों घटनाओं में पुलिस के अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं।
चिनहट कोतवाली क्षेत्र के कंचनपुर मटियारी निवासी रामसिंह यादव प्रॉपटी डीलर हैं। रामसिंह की दो वर्षीय बेटी वंशिका यादव के जन्मदिन की पार्टी घर में ही थी। पार्टी में गांव के ही निवासी 25 वर्षीय विशाल यादव उर्फ घुंड़ी यादव भी गया था। देर रात लगभग 12 बजे बाइक पर सवार हमलावर पार्टी में गये और ताबड़तोड़ विशाल यादव के ऊपर फायरिंग कर दी। फायरिंग होने से पार्टी में हडक़म्प मच गया। पार्टी में मौजूद लोग जान बचाने के लिए भागने लगे। कुछ समय के बाद जब गोलियों की आवाज थमी तो लोगों ने देखा कि विशाल खून से लथपथ होकर फर्श पर गिरा पड़ा है। स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने विशाल को उपचार के लिए ट्रॉमा सेंटर ले गई। जहां चिकित्सकों ने विशाल को मृत घोषित कर दिया। विशाल को चार गोलियां लगीं। एएसपी ट्रॉसगोमती मनिराम ने बताया कि इस मामले में विशाल के बड़े भाई अनमोल की तहरीर पर विमल, कमल और पुच्ची के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। फिलहाल सभी फरार चल रहे हैं। एएसपी ट्रॉसगोमती मनिराम ने बताया कि चिनहट मामले में मृतक विशाल के बड़े भाई अनमोल की तहरीर पर विमल, कमल और पुच्ची के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।
वहीं दूसरी तरफ कृष्णानगर थाना क्षेत्र के अलीनगर सुनहरा निवासी राज बहादुर यादव प्रॉपर्टी डीलर का कार्य करते हैं। राज बहाुदर ने दो शादियां की हैं। कृष्णानगर थानाध्यक्ष अश्वनी त्रिपाठी ने बताया कि राजबहादुर सुबह अपनी स्कूटी से अलीनगर सुनहरा लाला खेड़ा में प्रॉपर्टी के काम से गये थे। राज बहादुर के साथ दो लोग और थे। लगभग साढ़े दस बजे राज बहादुर को उन दोनों व्यक्तियों के साथ अपनी स्कूटी पर बैठाकर घर की तरफ आ रहे थे, जहां रास्ते में दोनों व्यक्तियों ने स्कूटी से उतरने की बात कही। स्कूटी के रोकते ही दोनों ने असलहे से राज बहादुर को गोली मार दी। गोली लगते ही राज बहादुर खून से लथपथ होकर सडक़ पर गिर पड़ा। गोली की आवाज सुनकर जब तक लोग पहुंचते हमलावर फरार हो गये।

Pin It