एलयू में पीजी कोर्सेस में ट्रांसफर के लिए अलग से भरनी होगी फीस

  • करीब 40 कोर्सेस में सात सौ सीटों के लिए आयोजित की जाएगी काउंसिलिंग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय में परास्नातक कोर्सेज में ट्रांसफर के माध्यम से प्रवेश लेने वाले छात्रों को फिर से आवेदन फीस जाम करनी होगी। फीस जमा होने के बाद ही छात्र को दूसरे कोर्स में प्रवेश दिया जाएगा। छात्रों को विवि प्रशासन की ओर से इसकी सूचना आगामी 23 अगस्त को होने वाली काउंसिलिंग से पूर्व ही दी जाएगी।
विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि परास्नातक के आवेदन करने वाले ऐसे कई छात्र हैं,जिन्होंने दो या उसे अधिक कोर्सेस में प्रवेश के लिए आवेदन किया है। उन छात्रों ने हर कोर्स के लिए अलग से आवेदन फीस जमा की थी। विवि प्रशासन का कहना है कि ऐसे में अगर ट्रांसफर केस वाले छात्र से आवेदन फीस नहीं ली जाएगी तो यह गलत होगा। मालूम हो कि विवि में आवेदन करने वाले छात्रों की आवेदन फीस वापस नहीं की जाती है। इसके अलावा विवि में आगामी 23 या 24 अगस्त को करीब 40 कोर्सेस की सात सौ सीटे भरने के लिए विभिन्न कोर्सेस में आवेदन करने वाले छात्रों को एडमिशन का मौका दिया जा रहा है,जिसके लिए छात्रों को कोर्सेस में प्रवेश के लेने के लिए सम्बन्धित विभाग में आवेदन फीस जमा करना अवश्यक है। इस प्रक्रिया के बाद जारी मेरिट के आधार पर ही छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा।
ग्रेवांस कमेटी ने दी कुछ छात्रों को हरी झंडी
एडमिशन कोऑर्डिनेटर प्रो. अनिल मिश्रा ने बताया कि 22 अगस्त को इंग्लिश, मैथ्स, भू-गर्भ व ग्रेवांस कमेटी की ओर से जिन छात्रों के प्रवेश को हरी झंडी दी गई है, केवल उनको ही दोबारा प्रवेश का मौका दिया जाएगा। जिन्हें कमेटी की ओर से हरी झंडी दी गई है। केवल उनको एडमिशन का मौका दिया जाएगा। इसके बाद 23 या फिर 24 अगस्त में किसी एक दिन शेष कोर्सेस की खाली सीटों पर ट्रांसफर के माध्यम से भरने के लिए काउंसिलिंग आयोजित होगी।

Pin It