एलयू ने परीक्षा में नकल रोकने के लिए जिलाधिकारी से लगाई गुहार

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय की आज शुरू हो गई परीक्षाओं की शुचिता बनाए रखने के लिए परीक्षा नियंत्रक ने जिलाधिकारी को पत्र लिखा। पत्र में उन्होंने परीक्षा केंद्रों का विवरण देते हुए नकल पर रोक लगाने के लिए जिलाधिकारी से गुहार लगाई है। इस बार भी उन कॉलेजों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है,जहां पिछली बार भारी अनियमितता पायी गई थी।
विश्वविद्यालय व संबंध कॉलेजों में आज से स्नातक की परीक्षाएं शुरू हो गई हैं। इन परीक्षाओं के लिए 52 महाविद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इनमें से कुछ केंद्र ऐसे जिनमें कई साल से लगातार नकल करते हुए परीक्षार्थियों को पकड़ा गया है। लेकिन हर साल इन्हें केंद्र बना दिया जाता है।
परीक्षा से पहले ही राज्यपाल राम नाईक ने उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति को पत्र भेजकर शैक्षिक सत्र 2015-16 की परीक्षायें समय से शुचितापूर्ण और नकल विहीन कराने हेतु प्रभावी कदम उठाने को कहा था। राज्यपाल ने अपने पत्र में विश्वविद्यालय मे नकल विहीन परीक्षाए कराए जाने हेतु उड़ाका दल का गठन करने के निर्देश दिये थे।
राज्यपाल के निर्देश पर परीक्षा के एक दिन पहले तक कोई टीम का गठन नहीं किया गया। वहीं नकल पर रोक लगाने और परीक्षा की शुचिता बनाए रखने के लिए परीक्षा नियंत्रक ने जिलाधिकारी को पत्र लिख कर परीक्षा केंद्रों का ब्योरा दिया।
ये हैं सवेदनशील परीक्षा केंद्र
शिया पीजी कॉलेज, जेएनपीजी कॉलेज जहां पिछले साल कई शिकायत सामने आयी थी लेकिन इस बार इन्हें केंद्र बनाने से कोई परहेज नहीं किया गया है।
अति संवेदनशील परीक्षा केंद्रों में मुमताज पीजी कॉलेज,लाल महादेव प्रसाद डिग्री कॉलेज गोसाईगंज, कुवर आसिफ अली, ज्ञानोदय डिग्री कॉलेज,सुरजन देवी अनुसुइया देवी डिग्री कॉलेज,राधेश्याम डिग्री कॉलेज, आदर्श सत्येद्र महाविद्यालय ऐसे केंद्र है जहां पर पिछले वर्ष भारी अनियमितता सामने आयी थी जिसके बाद कई बार विवि प्रशासन की तरफ से सुधार के लिए चेतावनी दी गई थी।

Pin It