एलयू के स्वास्थ्य केंद्र में ताला एम्बुलेंस से ड्राइवर नदारद

स्वास्थ्य केंद्र की खराब हालत स्टाफ के साथ-साथ छात्रों पर पड़ रही भारी

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय में बेहतरी के दावे करने वाले जिम्मेदार अपनी पीठ थपथपाने से नहीं थकते। वहीं प्राथमिक चिकित्सा जैसा इंतजाम तक विवि में उपलब्ध नहीं है। बुधवार को करीब एक बजे प्ले ग्राउंड में सीसीएस के सेक्रेटरी डॉ. देश दीपक अचानक बेहोश होकर गिर गए। समय पर एम्बुलेंस न होने पर उन्हें विभाग के प्रोफेसर की गाड़ी से विवि परिसर स्थित स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया। जहां हमेशा की तरह स्वास्थ्य केंद्र पर ताला लगा होने से उन्हें दूसरे चिकित्सालय ले जाया गया।
सवाल यह उठता है कि विवि परिसर का अपना स्वास्थ्य केंद्र होने का भी लाभ विवि में जरुरत पडऩे पर लोगों को नहीं मिल पाती है। बुधवार को सेके्रटरी डॉ.देश दीपक की खराब हालत को देखते ही लोगों ने एम्बुलेंस की तरफ दौड़ लगायी। जीस एम्बुलेंस को चलाने के लिए तीन ड्राइवर नियुक्त है मौके पर एक भी मौजूद नहीं था। फोन करने पर ड्राइवर ने बताया की वह कुछ काम से बाहर आया है। मामले की गम्भीरता को दखते हुए लोग जब उन्हें उपचार के लिए विवि के स्वास्थ्य केंद्र ले गए तो वहां हमेश की तरह ही ताला लगा था। उचार के लिए लोग उन्हें प्रॉयवेट अस्पताल में इलाज के लिए ले गए। बताते चले कि विवि के स्वास्थ्य केंद्र के बंद होने का समय ढ़ाई बजे का है। जिसके लिए चार डॉक्टर पहले से ही नियुक्त हैं। इसके अलावा कुछ समय पहले विवि हो रहे हंगामों में घायल छात्रों की स्थिति देखतें हुए कुलपति ने स्वास्य केंद्र में जल्द से जल्द और डाक्टरों की नियुक्ति करने का आश्वासन दिया था। मामला ठंडा होते ही उनका यह आश्वासन ठंडे बसते में चला गया। आज से विवि में एथलेटिक हॉकी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। जिसमें अलग-अलग क्षेत्र से 24 टीमें शामिल होने आयी हैं। ऐसी स्थिति में प्राथमिक उपचार विवि प्रशासन के लिए सबसे बड़ी चुनौती है।

Pin It